Chandra Grahan 2020: 30 नवंबर सोमवार को साल का आखिरी चंद्रग्रहण लगने जा रहा है। इस दिन चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया न पड़कर उसकी उपच्छाया (Chandra Grahan 2020) पड़ेगी। चंद्रमा पर एक धुंधली सी छाया नजर आएगी, जिससे चंद्रमा की छवि धूमिल दिखाई देगी। कोई भी चन्द्रग्रहण जब भी आरंभ होता है तो ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की परछाई में प्रवेश करता है, जिससे उसकी छवि कुछ मंद पड़ जाती है तथा चंद्रमा का प्रभाव मलीन पड़ जाता है, जो उपच्छाया ग्रहण कहलाता है। 30 नवंबर को चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक कक्षा में प्रवेश नहीं करेंगे अतः इसे ग्रहण नहीं कहा जाएगा। ग्रहण का समय भरतीय समयानुसार दोपहर 1 बजकर 04 मिनट पर एक छाया से पहला स्पर्श। दोपहर 3 बजकर 13 मिनट पर परमग्रास चंद्रग्रहण होगा। शाम 5 बजकर 22 मिनट पर उपच्छाया से अंतिम स्पर्श होगा। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि चंद्र ग्रहण के समय जातकों पर इसका प्रभाव मन पर पड़ता है। क्योकि चंद्रमा मन का कारक है। पढ़िए ग्वालियर से विजय सिंह राठौर की रिपोर्ट

चंद्र ग्रहण का असर ग्रहण से 5 दिन पूर्व से प्रारंभ हो जाता है और 5 दिन बाद तक रहता है। इन 10 दिनों में सभी राशियों पर शुभ व अशुभ प्रभाव देखने को मिलेंगे लेकिन चार राशियों (वृषभ, मिथुन कन्या, व धनु) पर सबसे अधिक प्रभाव रहेगा। साल का आखिरी चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2020) वृषभ राशि में लगेगा। जिस वजह से इस राशि के जातकों पर सबसे ज्यादा प्रभाव होगा।

मेष- चंद्र ग्रहण से पहले आया ये सप्ताह जीवन मे प्रेम, उमंग व खुशियां लाएगा। व्यापार में लाभ होगा। आर्थिक स्तर पर आपकी खुशियों को कई गुना बढ़ाएगा।

वृषभ - मन खराब रहेगा। चिंता बढ़ेगी। मित्रों से आर्थिक लाभ होगा। मूल्यवान वस्तुओं की खरीदी करेंगे, आपके प्रयास देखकर विरोधी ईर्ष्या करेंगे। भूमि भवन के मामले बनेंगे, स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

मिथुन- मानसिक तनाव झेलना पड़ सकता है। कार्यों में देरी भी हो सकती है। इसलिए आपको धैर्य बनाए रखना होगा। किसी के साथ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग न करें, बल्कि सभी से प्यार से बातचीत करें।

कर्क- व्यापार पर फोकस रहेगा।घरेलू मामलों में रुचि लेंगे, मूल्यवान वस्तुओं के संग्रह में रुचि रहेगी।साहस पराक्रम और संपर्क अच्छा रहेगा। घरेलू कार्यों में रुचि लेंगे।

सिंह- यह सप्ताह श्रेष्ठ फलकारक है। जिम्मेदारियों के बखूबी निवर्हन से अपनों का भरोसा जीतेंगे। उत्सव आयोजन की रौनक बन सकते हैं। पहल एवं पराक्रम में आगे रहेंगे।

कन्या- यह सप्ताह मिश्रित फलकारक है। कार्यक्षेत्र में परेशानियां आ सकती है। कन्या राशि के जातकों पर चंद्र ग्रहण का विपरीत असर पड़ सकता है। जो लोग जॉब में हैं और बड़ी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं उन्हें कुछ परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। चंद्र ग्रहण के दौरान अपनी भाषा पर नियंत्रण रखें।

तुला- वातावरण को बेहतर बनाने, सजाने की सोच रहेगी। रिश्तों में मिठास बढ़ेगी। कार्य व्यापार एवं लाभ उत्तम बना रहेगा।

वृश्चिक- रिश्तों को बल मिलेगा, ग्रहण से पहले आर्थिक लाभ के अवसर बढ़ेंगे। बड़ों का सानिध्य और सुख बढ़ेगा।

धनु- अपनी सेहत का ध्यान रखें, आर्थिक लेन-देन में सावधानी बरतने की जरूरत होगी, अन्यथा आपको भारी नुकसान पहुंच सकता है। संतान की शिक्षा को लेकर चिंता हो सकती है।

मकर- व्यापार अपेक्षा से अच्छा रहेगा। विभिन्न स्त्रोतों से धनलाभ होगा। प्रतिस्पर्धियों में आगे रहेंगे, साथियों का साथ और समर्थन उत्साहित रखेगा। मनोबल ऊंचा रहेगा।

कुंभ- शुभ समाचार मिलने के योग हैं। भाग्य की प्रबलता और उच्च मनोबल से सभी क्षेत्रों में उम्मीद से अच्छा करेंगे। धैर्य और अनुशासन के साथ आगे बढ़ते रहेंगे।

मीन- अप्रत्याशित लाभ होगा। रक्त संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी।परिजनों, प्रियजनों के साथ स्मरणीय पल साझा करेंगे सब कार्य सधेंगे। भूमि भवन के मामले बनेंगे, शुभ कार्यों में खर्च और निवेश बढ़ सकता है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti