Chandra grahan 2022: इस बार साल का दूसरा और अंतिम चंद्र ग्रहण 08 नवंबर को लगने वाला है। भारत में ये शाम 5 बजकर 32 मिनट से लेकर शाम 7 बजकर 27 मिनट तक दिखाई देगा। लेकिन सूतककाल ग्रहणकाल के 9 घंटे पहले से ही शरु हो जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ग्रहण काल के दौरान हमारे आसपास की हर चीज प्रभावित होती है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को इस दौरान कुछ विशेष ख्याल रखने व कछ सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है। तो आइए जानते हैं शास्त्रों के अनुसार सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को किन कार्यों से बचना चाहिए...

गर्भवती महिलाएं ग्रहणकाल में बरतें ये सावधानियां

- ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, ग्रहणकाल में गर्भवती महिलाओं को अपने पास नारियल रखना चाहिए। माना जाता है ऐसा करने से ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव कम होता है।

- गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण के दौरान सुई, चाकू, कैंची जैसी नोकदार वस्तुओं से दूर रहना चाहिए।

- इसके साथ ही चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं हनुमान चालीसा या दुर्गा चालीसा का पाठ करें। इससे संकट कटते हैं।

- ग्रहणकाल के दौरान अपने पेट के हिस्‍से पर गेरू लगाकर रखें।

- मन ही मन में भगवान का नाम लें और गायत्री मंत्र का जाप करें।

चंद्र ग्रहण का समय

साल का आखिरी ग्रहण कार्तिक पूर्णिमा, 8 नवंबर 2022 को पड़ेगा। चंद्र ग्रहण की शुरुआत यानी स्पर्शकाल शाम 5:35 बजे से शुरू होगा और ग्रहण का मध्य 6:19 बजे और मोक्ष शाम 7:26 बजे होगा। इस ग्रहण का सूतक काल ग्रहण से 12 घंटे पहले सुबह 5.53 बजे शुरू होगा और अगले दिन सुबह करीब 7 बजे तक चलेगा।

इन राशियों के लिए लाभकारी रहेगा ग्रहण

खबरों के अनुसार, 8 नवंबर 2022 को पड़ने जा रहा है और इन 4 राशि मेष, वृष, कन्या और मकर के लिए साल का आखिरी ग्रहण हानि के योग लेकर आ रहा है। इसके अलावा 4 राशियों मिथुन, कर्क, वृश्चिक और कुंभ के लिए यह काफी लाभकारी साबित होगा और बाकी चार राशियों के लिए ग्रहण मध्यम फल प्रभाव डालेगा।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close