Coronavirus Impact on Chaitra Navratri 2020: चैत्र नवरात्र के अवसर पर देवी की उपासना का बड़ा महत्व होता है। वैसे नवरात्र के दिनों में माता के मंदिरों में भक्तों का जमघट लगा रहता है और भक्त माता से अपनी मनोकामना पूर्ण करने की प्रार्थना करते हैं, लेकिन कोरोन वायरस के खौफ के चलते इन दिनों देशभर में लॉकडाउन और देश के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू लगा हुआ है ऐसे में भक्त घरों में बैठकर माता की भक्ति कर अपनी मनोकामना पूर्ण कर सकते हैं। इसके लिए किसी विशेष पूजा सामग्री की भी जरूरत नहीं है। घर में उपलब्ध साधनों का प्रयोग कर माता को प्रसन्न किया जा सकता है।

चैत्र नवरात्र या वासंतीय नवरात्र के अवसर पर माता की आराधना घर पर विधि-विधान से की जा सकती है। देवी की स्थापना कर उपवास करने और सात्विक जीवनशैली को अपनाकर भी माता की भक्ति मंदिर जाए बगैर घर से कर सकते हैं।

दुर्गा सप्तशती का पाठ करें

नवरात्र में देवी की आराधना के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ करने सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। दुर्गा सप्तशती में तेरह पाठ है। इसमें तीन चरित्र यानी खण्ड हैं। जो प्रथम चरित्र, मध्यम चरित्र और उत्तम चरित्र है। इसके साथ कवच, कीलक, अर्गलास्त्रोत, नर्वाण मंत्र और देवी सूक्त का पाठ करना चाहिए। इससे दुर्गा सप्तशती के पाठ का संपूर्ण फल प्राप्त होता है। संपूर्ण दुर्गा सप्तशती के पाठ का यदि समय नहीं है तो सिर्फ कुंजिका स्त्रोत का पाठ कर देवी से प्रार्थना करने पर भी माता आपकी पूजा को स्वीकार कर लेती है।

दुर्गा सप्तशती के अध्यायों से करें हवन

नवरात्र में घर पर दुर्गा सप्तशती के पाठ से हवन कर देवी की कृपा प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए घर में उपलब्ध हवन सामग्री से काम चलाया जा सकता है, क्योंकि कुछ वस्तुएं छूट जाने से भी किसी तरह का दोष नहीं लगता है। उनको मन से समर्पित कर देने से भी उपासना का फल मिलता है। दुर्गा सप्तशती का हवन इसके पहले अध्याय में दिए गए मंत्रों के द्वारा किया जाता है। इसलिए घर में बैठकर हवन करने से घर और आसपास के हानिकारक वायरस, विषाणुओं का सफाया होगा और वातावरण शुद्ध होगा शरीर स्वस्थ रहेगा।

कलश स्थापना कर करें देवी की आराधना

नवरात्र के अवसर पर कलश की स्थापना कर देवी की आराधना का प्रावधान है इसलिए घर पर कलश की स्थापना कर देवी की उपासना करने से भी पूजा का पूरा फल प्राप्त होता है। माता के चित्र या प्रतिमा की घर पर स्थापित कलश के साथ कुमकुम, अक्षत, हल्दी, मेंहदी, फूल आदि से पूजा कर हलवे को घर में बनाकर भोग लगा सकते हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan