इंदौर/उज्जैन। नवग्रहों में देवगुरु का दर्जा रखने वाले बृहस्पति ने मंगलवार सुबह 5.18 बजे राशि परिवर्तन किया। देवगुरु वृश्चिक राशि को छोड़कर धनु राशि में आ गए। इस राशि में पहले से ही शनि व केतु मौजूद हैं। ऐसे में एक राशि में शनि, केतु व बृहस्पति का त्रिग्रही युति संबंध बन रहा है। ग्रहों की यह स्थित नकारात्मक घटनाओं में कमी लाएगी। चारों ओर सुख शांति का वातावरण निर्मित होगा। विभिन्न् राशि के जातक राहत का अनुभव करेंगे। विवादित धार्मिक मुद्दों पर सनातन धर्म की ध्वजा लहराएगी। लोगों का न्याय प्रणाली के प्रति विश्वास बढ़ेगा। ज्योतिषाचार्य पं.अमर डब्बावाला के अनुसार देव गुरु का राशि परिर्वतन धर्म, अध्यात्म, व्यापार, राजनीति, न्याय प्रणाली, सामाजिक तथा राजनीतिक क्षेत्र में सकारात्मक प्रभाव वाला रहेगा।

शनि से पीड़ित जातकों के लिए भी आने वाला समय राहत देने वाला रहेगा। बृहस्पति का अन्य ग्रहों के साथ धनु राशि में परिभ्रमण बारह राशियों के लिए भी सुख, समृद्धिकारी रहेगा। उज्जैन के दृष्टिकोण से भी यह समय उपयुक्त है। राष्ट्रीय स्तर पर धर्मधानी की अलग पहचान बनेगी। विकास कार्यों की गति बढ़ेगी तथा नवाचार होगा।

बृहस्पति की अनुकूलता के लिए यह करें : पं.डब्बावाला के अनुसार देवगुरु की कृपा प्राप्ति तथा अनुकूलता के लिए जातकों को प्रतिदिन बृहस्पति स्तोत्र या विष्णु सहस्त्रनामावली का पाठ करना चाहिए। गुरुवार के दिन केले या पीपल के वृक्ष की पूजा करें। गाय को चने की दाल के साथ गुड़ खिलाएं।

इन राशियों पर ऐसा रहेगा प्रभाव

मेष- रुके कार्यों में गति आएगी एवं आर्थिक लाभ होगा।

वृषभ- विरोध के बाद सफलता की प्राप्ति होगी।

मिथुन- बौद्धिक परिवर्तन तथा आर्थिक प्रगति होगी।

कर्क- अपने-परायों की पहचान होगी।

सिंह- सम्मान के साथ संपत्ति की प्राप्ति होगी।

कन्या- आर्थिक पक्ष मजबूत होगा, मांगलिक कार्य होंगे।

तुला- पद्वृद्धि तथा यात्रा के योग।

वृश्चिक- कर्ज से छुटकारा मिलेगा, नई शुरुआत होगी।

धनु- तनाव की समाप्ति के साथ दृष्टिकोण में श्रेष्ठ बदलाव होगा।

मकर- आर्थिक व्यय बढ़ेगा।

कुंभ- संपत्ति से जुड़े मामलों में संतुलन की स्थिति बनेगी।

मीन- पदवृद्धि के योग हैं, परिवार में खुशियां आएंगी।

21 नवंबर से चतुग्रही योग

शनि, केतु, व बृहस्पति के साथ 21 नवंबर से शुक्र ही धनु राशि में आएंगे। ऐसे में एक राशि में चार ग्रहों का चतुग्रही योग बनेगा। इसका प्रभाव बाजार में नजर आएगा। लोगों की क्रय शक्ति बढ़ेगी और गोल्ड, डायमंड आदि क्षेत्र में खरीदी का दौर बनेगा।

Posted By: Prashant Pandey