उज्जैन। आयु, आरोग्य, धन, ऐश्वर्य तथा समृद्धि का पांच दिवसीय दीपपर्व का शुक्रवार को धनत्रयोदशी से आगाज होगा। सर्वार्थसिद्धि व ऐंद्रयोग की साक्षी में धनतेरस स्थाई समृद्धि देने वाली मानी गई है। इस दिन उत्तम स्वास्थ्य के लिए भगवान धन्वंतरि व प्रदोषकाल में धन के अधिष्ठात्र कुबेर देवता के पूजन का विधान है।

ज्योतिषियों के अनुसार विशिष्ट योगों की साक्षी में घर परिवार में सुख समृद्धि के लिए धनतेरस पर बही खाते, कलम दवात, चांदी-सोने के सिक्के, आभूषण, धातु की मूर्तियां, धातु से बने यंत्र, इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद, वाहन आदि की खरीदी विशेष शुभ मानी गई है। इस बार शुक्रवार के दिन त्रयोदशी होने से साज सज्जा की वस्तुएं, वस्त्र, कॉस्मेटिक उत्पाद, धार्मिक पुस्तकें आदि की खरीदी विशेष फलदायी रहेगी।

पांच दिन पांच पर्व

-शुक्रवार को धनतेरस : भगवान धन्वंतरि व कुबेर देवता का पूजन होगा। बाजार गुलजार रहेंगे लोग समृद्धि के लिए खरीदी करेंगे।

-शनिवार को महाकाल में पूजनः महाकाल मंदिर में शनिवार को धनतेरस मनाई जाएगी। भगवान को चांदी के सिक्के अर्पित किए जाएंगे।

-रविवार को चतुर्दशी व अमावस्या : सुबह ब्रह्म मुहूर्त में रूप चतुर्दशी मनाई जाएगी। शाम को प्रदोष काल में महालक्ष्मी का पूजन होगा।

-सोमवार को गोवर्धन पूजा : सोमवती अमावस्या के संयोग में गोवर्धन पूजा के साथ भगवान को अन्नकूट लगेगा।

-मंगलवार को भाई दूज : बहनें भाइयों को मंगल तिलक लगाकर दीर्घायु जीवन की कामना करेंगी। इस दिन भाई बहनों के घर जाकर भोजन ग्रहण करते हैं।

कुबेर देवता के दर्शन को उमड़ेंगे भक्त

सांदीपनि आश्रम स्थित श्री कुंडेश्वर महादेव मंदिर में एक हजार साल से अधिक प्राचीन भगवान कुबेर की मूर्ति विराजित है। धनत्रयोदशी पर भक्त ऐश्वर्य व समृद्घि की कामना से धन के कुबेर देवता के दर्शन पूजन के लिए पहुंचेंगे। अल सुबह से देर शाम तक मंदिर में दर्शनार्थियों का तांता लगेगा।

स्वास्थ्य सबसे बड़ा धन...भगवान धन्वंतरि का पूजन होगा

धनत्रयोदशी पर भगवान धन्वंतरि के प्राकट्य की मान्यता है। नगर निगम के केंद्रीय आयुर्वेदिक औषधालय के प्रधान वैद्य पं.पवन गोपीनाथ व्यास ने बताया स्वास्थ्य से बड़ा कोई धन नहीं है। धनतेरस पर आरोग्यता के लिए भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाएगी। औषधालय में सुबह 10 बजे महापौर मीना जोनवाल, आयुक्त प्रतिभाल व जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में धन्वंतरि पूजा होगी।

महाकाल में कल मनेगी धनतेरस

ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में शनिवार को धनतेरस मनेगी। पुरोहित समिति द्वारा समृद्घि की कामना से भगवान महाकाल को चांदी का सिक्का अर्पित कर पूजा अर्चना की जाएगी। पूजन में संभागायुक्त अजीतकुमार, कलेक्टर शशांक मिश्र, प्रशासक सुजानसिंह रावत शामिल होंगे। पूजा अर्चना के बाद राजाधिराज पर चांदी के सिक्के न्यौछावर किए जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network