Diwali 2021 Date Tithi Puja Muhurat: दशहरे के बाद अब दीपोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। दीपोत्सव पूरे पांच दिन का होता है। इसकी शुरुआत धनतेरस से होती है। इसके बाद रूपचौदस, दिवाली, गोवर्धन पूजा और आखिरी में भाई-दूज मनाई जाती है। इस वर्ष दीपोत्सव की शुरुआत 2 नवंबर से हो रही है। 2 नवंबर को धनतेरस है, इसके बाद 3 नवंबर को रूपचौदस, 4 नवंबर को दिवाली, 5 नवंबर को गोवर्धन पूजा और 6 नवंबर को भाई-दूज मनाई जाएगी। इन दिनों सार्वजनिक अवकाश रहता है। सबसे अहम दिन है दिवाली जिस पर लक्ष्मी पूजा की जाती है। इस बार लक्ष्मी पूजा के लिए 1 घंटे 55 मिनट का समय मिलेगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस बार दिवाली पर शाम 6 बजकर 9 मिनट से रात 8 बजकर 4 मिनट तक का मुहूर्त है।

Diwali 2021 Day 1 - धनतेरस: 2 नवंबर, 2021 (मंगलवार)

यह त्योहार का पहला दिन है जब लोग अपने घरों को साफ करते हैं और आगे के कार्यक्रमों की तैयारी करते हैं। यह खरीदारी का एक व्यस्त दिन भी है, जब बाजारों में जाना और सोना या रसोई का नया सामान खरीदना भाग्यशाली माना जाता है।

Diwali 2021 Day 2 - छोटी दिवाली: 3 नवंबर, 2021 (बुधवार)

दूसरा दिन है जब लोग अपने घरों को सजाने लगते हैं। कई परिवार स्ट्रिंग लाइटें जलाएंगे और अपनी रंगोली बनाना शुरू करेंगे, जो घरों के फर्श पर रखी गई जटिल डिजाइन हैं। इस दिन को रूपचौदस भी कहा जाता है।

Diwali 2021 Day 3 - दिवाली और लक्ष्मी पूजा: 4 नवंबर, 2021 (गुरुवार)

इस दिन घर-घर में धन की देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है। मिट्टी के तेल के दीपक या दीये जलाए जाते हैं। इस बार पूजा के लिए सबसे शुभ समय शाम 6:09 बजे से रात 8:04 बजे तक है। विधि विधान से पूजा करें, भोज लगाएं, आरती करें।

Diwali 2021 Day 4 - पड़वा: 5 नवंबर 2021 (शुक्रवार)

उत्सव का चौथा दिन पति और पत्नी के बीच प्यार को समर्पित होता है, और पुरुष अक्सर अपनी पत्नियों के लिए उपहार खरीदते हैं। कई व्यवसाय इस दिन नए खाते खोलते हैं क्योंकि यह शुभ माना जाता है। इसी दिन गोवर्धन पूजा की जाती है और मंदिरों में छप्पनभोग लगाए जाते हैं।

Diwali 2021 Day 5 - भाई दूज: 6 नवंबर, 2021 (शनिवार)

भाई दूज (भौबीज), उत्सव का अंतिम दिन भाइयों और बहनों को समर्पित है। अपने बंधन का जश्न मनाने के लिए, बहनें अपने भाइयों की सुरक्षा के लिए एक विशेष समारोह करती हैं। भाई अपनी बहनों को उपहार देते हैं।

Posted By: Arvind Dubey