Diwali Upay: कार्तिक अमावस्या की अंधेरी रात में जब जगमगाते दीपों से घर और आंगन रोशन रहते हैं, तब क्षीरसागर से महालक्ष्मी धरती पर आती हैं। दिवाली धन और समृद्धि का त्योहार है। हर व्यक्ति देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने और धन प्राप्ति के उपाय करता है। वेदों, उपनिषदों, पुराणों और संहिताओं में इन उपायों का उल्लेख मिलता है। गायत्री की कृपा से प्राप्त वरदानों में मां लक्ष्मी भी शामिल हैं। जिस पर वह कृपा करती हैं, वह दरिद्रता, दुर्बलता, कंजूसी और संकीर्णता से ग्रस्त नहीं होता। दीपावली पर की जाने वाली पूजा के अलावा कुछ अन्य उपाय भी अपनाए जाते हैं तो मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और उन्हें धन-धान्य से परिपूर्ण बनाती हैं। जानिए ऐसे ही उपायों के बारे में -

- दिवाली के दिन प्रातः काल भगवान विष्णु का स्मरण करें। जहां नारायण हैं, वहां श्री लक्ष्मी भी होंगी।

- श्री गणपति की स्थापना होने पर लक्ष्मी की पूर्ण स्थापना होती है। गणपति के बिना लक्ष्मी साधना अधूरी है।

- दीपावली के दिन पूजा करते समय देवी लक्ष्मी को कमल की माला पहनाएं और अगले दिन लाल कपड़े में बांधकर धन के बीच अपने घर में रख दें। महालक्ष्मी नमः का 3 बार उच्चारण करें।

- दीपावली के दिन देवी लक्ष्मी की पूजा के अलावा श्रीसूक्त का पाठ करना चाहिए।

- दीपावली के दिन पीपल के नीचे सरसों के तेल में दीया जलाने से सभी प्रकार के कष्ट दूर होते हैं।

- दिवाली की रात पूजा करने के बाद नौ गोमती चक्रों को हल्दी के साथ रखकर तिजोरी में स्थापित करने से साल भर समृद्धि आती है।

- दिवाली के दिन किन्नरों को कुछ दान दें और आशीर्वाद लें। ऐसा करने से सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

हर अमावस्या को दीपावली से शुरू होकर यदि किसी विकलांग या भिखारी या विकलांग व्यक्ति को भोजन कराया जाए तो सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है।

- लक्ष्मी प्राप्ति के लिए श्री यंत्र, कनकधारा यंत्र और कुबेर यंत्र के समन्वय से एक संपूर्ण क्रम स्थापित किया जाता है।

- दिवाली की पांच रातों में कम से कम 5 दीपक जरूर जलाएं। दीपक को सीधे जमीन पर रखने की बजाय नीचे की ओर आसन दें। उदाहरण के लिए पहले कुछ चावल या चावल रखें और फिर दीपक रखें।

- लक्ष्मीजी को घर की बनी खीर चढ़ाएं, बाजार की मिठाइयों से जितना हो सके परहेज करें।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close