Hanuman Jayanti 2020: भगवान शिव के रुद्रावतार और माता अंजनी की कोख से जन्म लेने वाले श्रीराम भक्त हनुमान का चैत्र पूर्णिमा को जन्मोत्सव है। इस साल हनुमान जन्मोत्सव 8 अप्रैल, बुधवार को है। इस साल लॉकडाउन की वजह से बजरंगबली का जन्मोत्सव भक्त मंदिरों की जगह घरों में श्रद्धा-भक्ति के साथ मनाएंगे। भय को दूर करने वाले, कष्टों का हरण करने वाले और अपने भक्तों की मनोकामना को पूर्ण करने वाले बजरंगबली इच्छाओं की पूर्ति करने वाले देवता हैं। हनुमानजी को परम बलशाली और मंगलकारी देवता माना गया है।

हनुमान जन्मोत्सव की तिथि और शुभ मुहूर्त

हनुमान जयंती की तिथि - 8 अप्रैल 2020, बुधवार

पूर्णिमा तिथि का प्रारंभ - 7 अप्रैल 2020 को दोपहर 12 बजकर 1 मिनट से

पूर्णिमा तिथि का समापन - 8 अप्रैल 2020 को सुबह 8 बजकर 4 मिनट पर

हनुमानजी की पूजाविधि

हनुमान जन्मोत्सव के दिन सूर्योदय के पूर्व उठकर श्रीराम, सीता और हनुमानजी का स्मरण करें। स्नान आदि से निवृत्त होकर स्वच्छ वस्त्र धारण करें और व्रत का संकल्प लें। एक पाट पर लाल रंग का वस्त्र बिछाकर हनुमानजी की प्रतिमा की स्‍थापना करें। प्रतिमा खड़ी अवस्था में हो तो बेहतर है। हनुमानजी को सिंदूर, अबीर, गुलाल, फूल आदि चढ़ाएं। पूजा करते समय हनुमान मंत्र का जाप करते रहना चाहिए। गुड़-चना या बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं और पान का बीड़ा समर्पित करें। सुंदर कांड और हनुमान चालीसा का पाठ करें। बजरंगबली का आरती करें और प्रसाद का वितरण करें।

ये बरतें सावधानियां

हनुमान जी की आराधना में स्वच्छता और ब्रह्मचर्य का पालन करना बेहद जरूरी है। इस दिन स्वच्छता से रहें और सात्विक आहार ग्रहण करें यानी मांस या मदिरा का सेवन न करें। व्रत का संकल्प लिया है तो नमक का सेवन न करें। हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे इसलिए महिलाओं को उनको स्पर्श नहीं करना चाहिए। महिलाएं उनके चरणों में दीपक लगाकर आराधना कर सकती है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan