Hanuman Janmotsav 2023: हर साल चैत्र माह की पूर्णिमा के दिन हनुमान जन्मोत्सव मनाया जाता है। पौराणिक और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन संकटमोचन हनुमान जी का अवतरण हुआ था, इसलिए देशभर में इस दिन उनके जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन हनुमान जी की पूरे विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस साल हनुमान जन्मोत्सव 6 अप्रैल 2023, गुरुवार के दिन मनाई जाएगा। आइए जानते हैं पूजा विधि

इस वर्ष कब है हनुमान जन्मोत्सव

पंचांग की गणना के अनुसार, इस वर्ष चैत्र माह की पूर्णिमा 5 अप्रैल 2023 को सुबह 9.19 बजे आरंभ हो जाएगी। वहीं इसका समापन 6 अप्रैल 2023 को सुबह 10.04 बजे हो जाएगा। उदया तिथि मान्य होती है इसलिए इसलिए हनुमान जन्मोत्सव 6 अप्रैल 2023 को मनाया जाएगा।

हनुमान जन्मोत्सव पर ऐसे करें हनुमानजी की पूजा

- हनुमान जी की पूजा करने के लिए सुबह जल्दी उठ कर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।

- इसके बाद सबसे पहले गणेशजी की पूजा करें।

- गणेश जी की पूजा के बाद भगवान श्रीराम और मां सीता का ध्यान कर उनसे आशीर्वाद लें और हनुमान जी की पूजा करें।

- पूजा के बाद उनके सामने देसी घी का दीपक जलाएं और उन्हें लाल रंग के पुष्प, फल, अगरबत्ती आदि अर्पित करें।

- इसके बाद बजरंगबली के सामने बैठकर हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करें।

हनुमान जन्मोत्सव पर करें इन मंत्रों का जाप

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर। त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात।

अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं, दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम् । सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं, रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि ।।

मनोजवं मारुततुल्यवेगमं जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम् ।

शनि के प्रकोप से बचने के लिए हनुमान जन्मोत्सव पर उपाय

एक कटोरी में तेल लेकर उसमें काली उड़द के 14 दाने डाल दें। इसके बाद कटोरी में रखे तेल को आप ऐसे देखिए कि आपके चेहरे का प्रतिबिंब दिखाई दे। इसके बाद यह तेल भगवान हनुमान को अर्पित करें। इस तेल को संकट मोचन पर चढ़ाने से सारी नकारात्मकता नष्ट हो जाती हैं।

Posted By: Arvind Dubey

rashifal
rashifal
  • Font Size
  • Close