Sawan Somwar 2020: सावन माह की शुरुआत हो चुकी है। 6 जुलाई, सोमवार सावन का पहला दिन है। वैसे भी सावन माह में सोमवार का विशेष महत्व होता है। श्रद्धालु भोले की भक्ति में लीन होते हैं। हालांकि इस बार हालात अलग हैं। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण मंदिर जाकर दर्शन करना इतना आसान नहीं है। यूं तो सावन के पहले सोमवार पर सुबह शिवालयों में चहल-पहल है। रायपुर में पंडित सुरेश गोस्वामी ने बताया कि यहां के ऐतिहासिक हाटकेश्वर महादेव मंदिर दोपहर को शिवलिंग का तिरंगे के आकार में श्रृंगार किया जाएगा। शाम 5 बजे से भक्त श्रृंगार दर्शन कर सकेंगे। भक्तों का ताता लगा हुआ है, लेकिन फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन भी किया जा रहा है। साथ ही देश के प्रसिद्ध और चमत्कारी शिव मंदिरों के फोटो वीडियो भी आना शुरू हो गए हैं। यहां देखिए महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन का सोमवार सुबह का वीडियो और कीजिए अपने दिन की शुरुआत (नीचे देखिए वीडियो)

पूर्वी दिल्ली: शाहदरा के भोलानाथ नगर स्थित झारखंडी शिव मंदिर में सावन मास के पहले दिन मंदिर प्रशासन के नियमों का पालन कर शिवलिंग पर जलाभिषेक करती महिलाएं। मंदिर में शारीरिक दूरी रखा जा रहा विशेष ध्यान।

दिल्ली: सावन मास के पहले दिन नारनौल के मोहल्ला जमालपुर स्थित मंदिर में शिव भोले की पूजा अर्चना करती महिलाएं। पुजारी रामनिवास श्रद्धालुओं को शारीरिक दूरी बनाने की हिदायत देते हुए। मंदिर में आने वालों को पहले हाथों को सैनिटाइज कराने के बाद ही पूजा करने की अनुमति दी जा रही है।

कांवड़ यात्रियों के लिए आज से हरिद्वार की सीमाएं सील

कोरोना संक्रमण के कारण इस बार कांवड़ यात्रा भी नहीं निकल रही है। हरिद्वार में भी इसी कारण कांवड़ मेला स्थगित कर दिया गया है और हरिद्वार जिले की सीमाएं रविवार रात 12 बजे से कांवड़ यात्रियों के लिए सील कर दी गई हैं। यानी इस बार कोई कावड़ियां मां गंगा का पवित्र जल लेने नहीं आ सकेगा। सीमा पर 10 चेक पोस्ट बनाने के साथ ही अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। उत्तराखंड के निवासियों को आईडी दिखाकर ही जिले में प्रवेश दिया जाएगा।

सावन मास में पश्चिमी यूपी, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान से हर साल बड़ी संख्या में शिवभक्त गंगाजल लेने हरिद्वार पहुंचते हैं। हरकी पैड़ी से गंगा जल भरकर कांवड़ यात्री पैदल और वाहनों से अपने गंतव्यों को रवाना होते हैं। पिछले साल 3.30 करोड़ कांवड़ यात्री हरिद्वार पहुंचे थे। कोरोना के चलते इस बार उत्तराखंड सहित उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली आदि राज्यों ने कांवड़ मेला स्थगित करने पर सहमति जताई है।

बिलासपुर: नहीं चढ़ा सकेंगे प्रसाद, मास्क भी अनिवार्य

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में कोरोना वायरस को देखते हुए इस बार शिवालयों में शिव भक्तों की भीड़ कम ही रहेगी। वहीं शिवालयों में अभिषेक पूजन करने के लिए मास्क अनिवार्य होगा। इसके बिना मंदिर में प्रवेश वर्जित रहेगा और तीन से अधिक की संख्या में भक्तों को प्रवेश की अनुमति मिलेगी। शिव भक्त सिर्फ अभिषेक पूजन कर सकेंगे। पर वे प्रसाद चढ़ा नहीं सकेंगे और न ही मंदिर से उन्हें किसी भी प्रकार का प्रसाद मिलेगा।

वीडियो: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के मानसरोवर मंदिर में पूजा आरती की

रायपुर: सावन माह के पहले दिन सोमवार का संयोग होने से श्रद्धालु रायपुर के ऐतिहासिक हाटकेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। कोरोना महामारी के चलते विशेष प्रबंध किया गया। बिना जांच के किसी को भी प्रवेश नही दिया गया। जो लोग मास्क नहीं लगाए थे, उन्हें जाने नहीं दिया, इस पर तुरंत ही रुमाल से भक्तों ने मुँह ढंका। बुखार की जांच करके सैनिटाइजर से हाथ धुलवाए गए। मंदिर गर्भगृह से 10 फीट दूर से ही भक्तों को दर्शन करने दिया गया। गर्भगृह तक नहीं जाने दिया गया। भक्तों ने मंदिर के बाहर पेड़ के नीचे रखे शिवलिंग पर ही जलाभिषेक किया। वहां भीड़ ज्यादा होने पर उस ओर जाने के मार्ग को बंद कर दिया गया।

Updating....

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan