मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। 16 व 17 जुलाई की मध्य रात्रि को खंडग्रास चंद्रग्रहण दिखाई देगा। धर्मशास्त्रों के अनुसार 9 घंटे पहले 16 जुलाई को दिन में 4.30 बजे से चंद्रग्रहण का सूतक शुरू हो जाएगा। ग्रहण का स्पर्श रात्रि 1.30 बजे से मध्यकाल 2.58 बजे तक होगा। इसके बाद 17 जुलाई से ही सावन माह शुरू हो जाएगा। यह इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण है। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार चंद्र ग्रहण के समय राहु और शनि चंद्रमा के साथ धनु राशि में होंगे। इससे ग्रहण का प्रभाव और बढ़ेगा। आइये जानते हैं ज्‍योतिष के अनुसार राशियों पर इसका क्‍या प्रभाव पड़ेगा।

ऐसा रहेगा ग्रहण का काल

ज्योतिषी डॉ.अशोक शर्मा ने बताया कि चंद्रग्रहण का नजारा करीब तीन घंटे तक दिखाई देगा। चंद्र ग्रहण का सूतक 16 जुलाई को दोपहर 3 बजे से लग जाएगा और 17 जुलाई को सुबह 4.30 बजे तक रहेगा। सूतक लगने से पूर्व ही मंदिरों के पट बंद हो जाएंगे। इससे पहले गुरु पूजन किया जा सकेगा। 16 जुलाई की मध्य रात्रि 1.32 बजे ग्रहण का स्पर्श होगा और ग्रहण रात 3.01 बजे तक रहेगा। ग्रहण का समय 2.58 घंटे का रहेगा।

इन राशियों पर पड़ेगा यह प्रभाव

इस ग्रहण का विभिन्न राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा।

- मेष राशि पर इसके दुष्प्रभाव से मान सम्मान यश प्रतिष्ठा पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

- वृषभ राशि वाले व्यक्तियों पर स्वास्थ्य संबंधी विपरीत प्रभाव रह सकता है।

- मिथुन राशि वाले जातकों को स्त्री से संबंधित कष्ट का सामना करना पड़ सकता है।

- कर्क राशि वाले व्यक्ति के लिए यह ग्रहण शुभ फल दाई हो सकता है, सुख, यश, पद और प्रतिष्ठा की प्राप्ति संभव है।

- सिंह राशि वाले व्यक्तियों के लिए यह ग्रहण चिंता कारक परिस्थितियां निर्मित कर सकता है।

- कन्या राशि वाले व्यक्तियों को व्यथा और परेशानी की स्थिति तथा अनावश्यक दौड़ भाग करना पड़ सकती है।

- तुला राशि वाले व्यक्तियों के लिए यह ग्रहण धन प्राप्ति के संदर्भ में शुभ फल दाई सिद्ध होगा। लक्ष्मी प्राप्ति के लिए किए जाने वाले प्रयासों में सफलताओं की प्राप्ति भी संभव है।

- वृश्चिक राशि के व्यक्ति सावधानी से लेनदेन व्यवहार करें। इस ग्रहण के प्रभाव से हानि होने की आशंका दृष्टिगोचर हो रही है।

- धनु राशि वाले व्यक्ति लापरवाही से बचें वाहन आदि से सावधानी रखें यह ग्रहण किसी दुर्घटना घात की स्थिति बनाता है।

- मकर राशि वाले व्यक्तियों के लिए किसी क्षति का सामना करना पड़ सकता है।

- कुंभ राशि वाले व्यक्तियों के लिए यह लाभदायक और प्रयासों में सफलता दायक परिस्थिति बनाता है।

- मीन राशि के जातकों को यह ग्रहण सब प्रकार के सुखों में वृद्धि करेगा।