Lunar Eclipse July 2020: आज साल का तीसरा उपच्छाया चंद्र ग्रहण लग चुका है। इस साल कुल 6 चंद्र ग्रहण पड़ेंगे। सबसे पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को लगा था। उपच्छाया चंद्र ग्रहण को वैदिक काल में ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा गया था। इसलिए इसका सूतक काल भी नहीं मान्य किया गया था। ग्रहण शब्द का मतलब होता है प्रकाश का अस्पष्ट होना। ऐसे में विश्व की अलग-अलग विभिन्न धार्मिक मान्यताओं में इसे अपशकुन भी माना जाता है। ग्रहण आमतौर पर जो़ड़ियों में पड़ते हैं। या तो सूर्य ग्रहण के बाद चंद्र ग्रहण आता है या फिर इसका उल्टा होता है। 5 जुलाई को होने वाला चंद्र ग्रहण इस बार खास है क्योंकि यह 5 जून के बाद तीसरा ग्रहण है।

पारंपरिक तौर पर इसे त्रोइका (Troika) बोला जाता है। लगातार एक के बाद एक तीन ग्रहणों का होना दुर्लभ और अद्वितीय है। बता दें कि 5 जून को पहला उपच्छाया चंद्र ग्रहण पड़ा था। उसके बाद 21 जून को सूर्य ग्रहण हुआ था। अब इसका अंतिम चरण 5 जुलाई को एक बार फिर उपच्छाया ग्रहण के साथ पूरा हो रहा है।

यह होता है उपच्छाया चंद्र ग्रहण

उपच्छाया ग्रहण पूर्ण ग्रहण जैसा नहीं होता है। यह पीले चंद्रमा के समान दिखाई देता है। उपच्छाया चंद्र ग्रहण के दौरान पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है और चंद्रमा का प्रकाश कुछ कम नजर आता है। ऐसी सूरत में चांद पर एक धुंधली सी परत नजर आती है। वास्तविक चंद्र ग्रहण की तरह उपच्छाया चंद्र ग्रहण में चांद के आकार में कोई अंतर नजर नहीं आता और न ही चंद्रमा का कोई भाग ग्रस्त होता है।

5 जुलाई को होगा उपच्छाया चंद्र ग्रहण

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बार ग्रहण ग्रीनविच मीन टाइम के अनुसार 5 जुलाई को सुबह 8.37 बजे होगा। सर्वाधिक ग्रहण (Maximum Eclipse) सुबह 9.59 पर दिखाई देगा। आने वाले चंद्र ग्रहण की भारत में विजिबिलिटी इस बात पर निर्भर करेगी कि दिन में चंद्रमा कब तक दिखाई देता है।

यह ग्रहण अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत महासागर, हिंद महासागर और अटलांटिक महासागर के ज्यादातर हिस्सों में नजर आने की संभावना है।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020