Radha Ashtami 2021: वृषभानु नंदनी के जन्म उत्सव की खुशी में ब्रज झूम रहा है। राधाष्टमी पर मंगलवार (14 सितंबर) सुबह 4.30 बजे ब्रह्मांचल पर्वत पर राधारानी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। श्रद्धालु इस सुंदर पल का साक्षी बनने के लिए बरसाना पहुंचने लगे हैं। सोमवार सुबह जातक गहवरनम की परिक्रमा करेंगे। शाम को नंदगांव के गोस्वामीजन बधाई लेकर राधारानी मंदिर जाएंगे।

वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजा पाठ

सोमवार-मंगलवार रात दो बजे सेवायत गर्भगृह में प्रवेश करेंगे। इस दौरान राधारानी के मूल शांति के लिए 27 कुंओं का जल, 27 पेड़ों की पत्ती, 27 तरह की मेवा, 27 तरह की औषधि सहित वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजा पाठ किया जाएगा। मंगलवार सुबह करीब 4.30 बजे पंचामृत से श्रीविग्रह का अभिषेक कराया जाएगा। नंदगांव-बरसाना के गोस्वामी समाज द्वारा बधाई भी गायन होगा। शाम को बृषभानु नंदनी श्रद्धालुओं को दर्शन देने सफेद छतरी में विराजमान होंगी।

राधाष्टमी की तैयारी शुरू

वहीं रावल के राधारानी मंदिर में भी राधाष्टमी की तैयारी शुरू हो चुकी की है। सोमवार शाम सात बजे से छठ पूजन कर प्रसाद वितरित किया जाएगा। मंगलवार सुबह चार बजे जन्म के दर्शन होंगे। सुबह 5.30 बजे से 6.30 बजे तक राधारानी का महाभिषेक किया जाएगा।

कस्बे को जोन और सेक्टर में बांटा

राधाष्टमी पर श्रद्धालु बरसाना पहुंचना शुरू हो गए हैं। कस्बे को तीन जोन और सात सेक्टर में बांटा गया है। सीसीटीवी से हर जगह की निगरानी की जा रही है। एक हजार से अधिक पुलिसकर्मी मेला परिसर में तैनात हैं। श्रद्धालुओं के गाड़ियों के लिए पांच किमी दूर पार्किंग स्थल बनाया गया है।

Posted By: Navodit Saktawat