Raksha Bandhan 2022: श्रावस मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस बार रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त को मनाया जाएगा। इस त्योहार को मनाने की परंपरा हजारों साल से चली आ रही है। पहले राखी रेशमी धागे की बनी होती है, लेकिन बदलते वक्त के साथ इनपर भी फैशन का रंग चढ़ गया है। मार्केट में रंग-बिरंगी, फैंसी और महंगी राखियां उपलब्ध हैं। बहनें अपने भाइयों के लिए अच्छी सुंदर दिखने वाली राखी खरीदने की कोशिश करती हैं। हालांकि इन्हें खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है, वरना इसका अशुभ प्रभाव होता है। आइए जाने राखी खरीदते और बांधते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1. बाजार में कई फैंसी राखियां बिकती हैं। राखी खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि उसपर कोई अशुभ चिह्न न हो। ऐसी राखी भूलकर भी न खरीदें और न ही बांधें।

2. देवी-देवताओं की फोटो या चिह्न वाली राखियां भी मिलती हैं। ध्यान रखें कि इस तरह की राखियां अपने भाइयों को कभी नहीं बांधना चाहिए। दरअसल ये लंबे समय तक कलाई पर बंधी रहती हैं। जिसकी वजह से अपवित्र हो जाती है और कहीं गिर भी सकती है। इन दोनों स्थिति में भगवान का अपमान होता है।

3. कई बार जल्दबाजी में खंडित राखी खरीदने में आ जाती है। यदि ऐसी राखी आ जाए तो इसे भाई की कलाई पर न बांधें। हिंदू धर्म में शुभ कार्यों के दौरान खंडित वस्तुओं की पूजना करने की मनाही है।

4. रक्षाबंधन पर बहनें अपने भाई की सुख-समृद्धि की कामना करती हैं। इस पवित्र दिन काले रंग की राखी भाई को न बांधें। ये रंग नकारात्मक का प्रतीक है। शुभ कार्यों में इसका प्रयोग वर्जित माना गया है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Koo App

Koo App

येन बद्धो बलि: राजा दानवेन्द्रो महाबल: । तेन त्वामभिबध्नामि रक्षे मा चल मा चल ।। बहनों के मान-सम्मान की रक्षा और भाइयों के सुदीर्घ जीवन की मंगल-कामना के पवित्र पर्व रक्षा बंधन की आप सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं! भाई-बहनों में परस्पर अपार स्नेह और प्रेम की उत्तरोत्तर वृद्धि हो, जीवन में शुभत्व, मंगल एवं आनंद के दीप देदीप्यमान रहें, स्नेह बंधन के पवित्र पर्व #रक्षाबंधन पर यही शुभकामनाएं! #रक्षाबंधनपर्व #RakshaBandhan

- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 11 Aug 2022

Koo App

बिहार व समस्त देशवासियों को भाई-बहन के अटूट स्नेह-प्रेम और सामाजिक सौहार्द का पावन पर्व #रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं। लोकतांत्रिक संस्थाओं में आधी आबादी को उचित प्रतिनिधित्व देकर इस पर्व की सार्थकता सिद्ध हो सकती है, इस तरफ़ आ. श्री नीतीश कुमार जी की पहल देशभर में अतुलनीय है।

- Upendra Kushwaha (@upendrajdu) 11 Aug 2022

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close