Raksha bandhan 2022: रक्षाबंधन का पर्व जल्द ही आने वाला है। इस साल रक्षाबंधन का पावन त्योहार 11 अगस्त को मनाया जाने वाला है। इस त्योहार को लेकर बाजारों में रौनक बढ़ चुकी है। और बहनें भी अपनी-अपनी तैयारियों में जुट चुकी हैं। राखी की त्योहार भाई-बहन के प्रेम का पर्व है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं। और भाई भी अपनी बहनों को रक्षा का वचन देते हैं। सनातन परंपरा में यह पर्व बहुत ही विशेष माना जाता है। सावन के महीने में श्रावण पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह त्योहार भगवान विष्णु को समर्पित पर्व भी है। इस दिन देवी लक्ष्मी ने दैत्यराज बलि को राखी बांधकर उन्हें अपना भाई बनाया था।

इस दिन मनाया जाएगा रक्षाबंधन पर्व

इस बार रक्षाबंधन के पर्व को लेकर कुछ उलझन की स्थिति भी है। इस बार रक्षाबंधन के दिन यानी कि सावन पूर्णिमा के दिन तिथि की शुरुआत होने के कुछ देर के बाद ही भद्रा भी लग रही है। ऐसी स्थिति में राखी का पर्व 11 अगस्त को होगा या 12 को होगा इसे लेकर काफी उलझन थी। कुछ लोग जहां 11 अगस्त को राखी मनाने की बात कर रहे हैं तो वहीं कुछ 12 अगस्त को इसे मनाने की बात कर रहे हैं। इसका निर्णय सटीक पंचांग और काल गणना के अनुसार किया जाएगा। वहीं रक्षाबंधन के दिन भाई को कैसे राखी बांधी जाए इसे लेकर भी कुछ नियम है।

राखी बांधने के कुछ नियम

राखी बांधने से पहले भाई और बहन दोनों को उपवास रखना चाहिए। इस दिन बहनें पहले थाली सजाएं। इस प्रक्रिया में थाली में राखी, रोली, दिया, कुमकुम, अक्षत और मिठाई रखें। राखी बांधते वक्त सबसे पहले भाई को माथे पर तिलक लगाएं। इसके बाद भाई पर अक्षत वारें अब बहने अपने भाई के दाहिने हाथ पर राखी बांधें। राखी बांधने के बाद बहने भाई की आरती उतारें। राखी बंधवाने के बाद भाई अपनी बहनों के चरण स्पर्श जरुर करें। सनातन परंपरा में बहने देवी कन्या के रूप में होती हैं। कई जगहों पर बहनें बड़े भाईयों के पैर छूती हैं। अगर भाई आपसे बड़ा है तो उसके पैर छूकर भाई से आशीर्वाद लें। इसके बाद भाई को मिठाई खिलाएं। बहनों के राखी बांधने के बाद भाई अपने सामर्थ्य अनुसार बहन को उपहार दें। कभी भी खाली और खुले हाथों से राखी नहीं बंधवाएं। हमेशा हाथ में कुछ धन और अक्षत जरूर रख लें और मुट्ठी बंद रखें। ऐसा करने से संपत्ति बनी रहती हैं।

राखी बांधते समय पढ़ें ये मंत्र

ऊँ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबलः।

तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।

Koo App

Koo App

येन बद्धो बलि: राजा दानवेन्द्रो महाबल: । तेन त्वामभिबध्नामि रक्षे मा चल मा चल ।। बहनों के मान-सम्मान की रक्षा और भाइयों के सुदीर्घ जीवन की मंगल-कामना के पवित्र पर्व रक्षा बंधन की आप सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं! भाई-बहनों में परस्पर अपार स्नेह और प्रेम की उत्तरोत्तर वृद्धि हो, जीवन में शुभत्व, मंगल एवं आनंद के दीप देदीप्यमान रहें, स्नेह बंधन के पवित्र पर्व #रक्षाबंधन पर यही शुभकामनाएं! #रक्षाबंधनपर्व #RakshaBandhan

- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 11 Aug 2022

Koo App

बिहार व समस्त देशवासियों को भाई-बहन के अटूट स्नेह-प्रेम और सामाजिक सौहार्द का पावन पर्व #रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं। लोकतांत्रिक संस्थाओं में आधी आबादी को उचित प्रतिनिधित्व देकर इस पर्व की सार्थकता सिद्ध हो सकती है, इस तरफ़ आ. श्री नीतीश कुमार जी की पहल देशभर में अतुलनीय है।

- Upendra Kushwaha (@upendrajdu) 11 Aug 2022

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close