Ram Navami 2021: रामनवमी का दिन मां दुर्गा की अराधना के महापर्व चैत्र नवरात्र का आखिरी दिन होगा। इस दिन 9 साल बाद पांच ग्रहों का शुभ संयोग बन रहा है। यह वृद्धिकारक संयोग होगा। ग्रहों की यह युति योति इस दिन को मंगलकारी बनाएगी। इससे पहले ऐसा संयोग साल 2013 में बना था।

इस दिन पूजा और खरीदारी करने से घर समृद्ध बनता है। ज्योतिषियों के अनुसार कई प्रकार की पूजाएं मौन व्रत रखकर भी की जाती है। इस वजह से पूजा के दौरान मास्क लगा सकते हैं।

12 बजे आरती करना ज्यादा लाभकारी

भगवान श्रीराम का जन्म कर्क, लग्न और अभिजीत मुहूर्त में मध्यान्ह 12 बजे हुआ था। भगवान श्रीराम की राशि और लग्न कर्क है। लग्न में स्वग्रही चंद्रमा का होना सुख शांति प्रदान करेगा। इसके साथ अश्लेषा नक्षत्र भी दिन की सुभता को बढ़ाएगा। भगवान श्रीराम का जन्म मध्यान्ह 12 बजे हुआ था, इसलिए इनकी आरती भी 12 बजे करना उचित रहेगा।

कोरोना के चलते नहीं निकलेगी शोभा यात्रा

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने देश के अधिकतर बड़े शहरों में सख्ती कर रखी है। इस वजह से पिछले साल की तरह इस बार भी भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव पर शोभा यात्रा नहीं निकाली जाएगी। पिछले साल भी कोरोना के कारण इस समय देश में लॉकडाउन लगा हुआ था।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags