भारतीय ज्योतिष के मुताबिक 29 सितंबर की रात से शनि ग्रह की चाल बदलने वाली है। 29 सितंबर से शनि ग्रह वक्री से पुन: मार्गी हो जाएंगे। ऐसे में सभी राशियों को शनि की चाल बदलने का असर भी होगा। विशेषकर मकर और कुंभ राशि के स्वामी शनि है, ऐसे में इन दो राशियों के शनि की चाल बदलने का विशेष प्रभाव पड़ेगा। गौरतलब है कि ज्योतिष के मुताबिक कुल 12 राशियां होती है और इन सभी राशियों के अलग-अलग ग्रह स्वामी हैं। शनि ग्रह को कुंभ और मकर राशि का स्वामी माना जाता है।

शनि ग्रह को सभी ग्रहों का न्यायाधीश भी माना जाता है। यही कारण है कि भारतीय ज्योतिष में 9 ग्रहों में शनि को विशेष स्थान प्राप्त है। अगर मकर और कुंभ राशि के लोगों की कुंडली में शनि शुभ स्थिति में हो तो भाग्य का भरपूर साथ मिलता है।

मकर राशि के जातकों की खूबी

मकर राशि के जातक अति महत्वाकांक्षी होते हैं। ऐसे लोग हमेशा मान-सम्मान और सफलता के लिए काम करते हैं। साथ ये लोग विलासिता की चींजे ज्यादा पसंद करते हैं। इन लोगों की एक खासियत यह भी है कि इन्हें यात्रा करना बेहद पसंद होता है और अपने गंभीर स्वभाव के कारण ज्यादा मित्र भी नहीं बना पाते हैं। सामान्यत: ये लोग बहुत कम बोलते हैं और ईश्वर और भाग्य में विश्वास रखते हैं।

कुंभ राशि वालों की पहचान

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर गू, गे, गो, सा, सू, सो आदि से शुरू होता है, वे कुंभ राशि वाले होते हैं। ये राशि चक्र के ग्यारवीं राशि है। कुंभ राशि वाले बुद्धिमान होने के साथ-साथ व्यवहार कुशल भी होते हैं। स्वच्छंद विचार वाले होते हैं। सामाजिक कार्यक्रमों के रूचि रखने के साथ-साथ साहित्य, कला, संगीत, दान-पुण्य आदि में भी दिलचस्पी रहती है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020