1ST Sawan Somvar Dates 26 july । सावन का महीना 25 जुलाई से शुरू हो रहा है और भगवान शिव की भक्ति और उनकी कृपा पाने के लिए इसे सबसे उत्तम महीना माना जाता है। भगवान शिव के प्रिय सावन महीने का पहला सोमवार 26 जुलाई को पड़ रहा है। सावन माह में सोमवार को भोलेनाथ की कृपा प्राप्त करने का सबसे उत्तम अवसर है। इस साल सावन के महीने में चार सोमवार आएंगे। ज्योतिष कालगणना के अनुसार सावन के पहले सोमवार पर चंद्रमा और गुरू की युति से गजकेसरी योग निर्मित हो रहा है और गजकेसरी योग को ज्योतिष में बहुत मंगलकारी माना जाता है।

चातुर्मास का शुभारंभ

सावन का पूरा महीना भगवान शिव को समर्पित होता है। इस दौरान चातुर्मास आरंभ हो जाते हैं। आषाढ़ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी, जिसे देवशयनी एकादशी भी कहते हैं, से चातुर्मास आरंभ हो चुका है. चातुर्मास में शुभ कार्य नहीं किए जाते है। इस दौरान शादी, उपनयन संस्कार जैसे मांगलिक कार्यों को वर्जित माना जाता है।

सावन सोमवार की पूरी लिस्ट -

- पहला सावन सोमवार व्रत- 26 जुलाई 2021

- दूसरा सावन सोमवार व्रत- 2 अगस्त 2021

- तीसरा सावन सोमवार व्रत- 9 अगस्त 2021

- चौथा सावन सोमवार व्रत-16 अगस्त 2021

भगवान शिव की पूजा में रखें इन बातों का ध्यान

सावन माह में सोमवार को भगवान शिव की पूजा करते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। सावन में खानपान को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए। भगवान शिव के भक्तों को सावन में बैंगन, दूध आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा शिव पूजा में हल्दी का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

सावन सोमवार पर इन मंत्रों करें जाप

शिव जी का पंचाक्षर मंत्र -

ओम नम: शिवाय।।

महामृत्युंजय मंत्र-

ओम हौं जूं स: ओम भुर्भव: स्व: ओम त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।

ऊर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ओम भुव: भू: स्व: ओम स: जूं हौं ओम।

शिव जी के प्रिय मंत्र-

- ओम नमः शिवाय।

- नमो नीलकण्ठाय।

- ओम पार्वतीपतये नमः।

- ओम ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।

- ओम भगवते दक्षिणामूर्त्तये मह्यं मेधा प्रयच्छ स्वाहा

Posted By: Sandeep Chourey