Sawan 2nd Somwar 2021: सावन का महीना हिन्दू धर्म के लिए बेहद ही खास माना गया है। यह माह पूर्ण रूप से भगवान शिव को समर्पित होता है। इस वर्ष सावन के महीने ने 25 जुलाई को दस्तक दे दी है, जिसका कल यानी 2 अगस्त को दूसरा सोमवार है। ऐसे में अगर आप भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं तो सावन सोमवार इसके लिए बहुत उपयुक्त होता है। विधि पूर्वक सावन सोमवार पर भगवान शिव की पूजा की जाए तो इससे उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। अगर आप भी इस खास अवसर का फायदा उठाना चाहते है या भगवान शिव जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो सावन सोमवार की पूजा के लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा। चलिए आज हम सावन के दूसरे सोमवार की पूजा के लिए पूजन सामग्री, पूजा विधि और खास मंत्र के बारे में जानते हैं..

सावन के दूसरे सोमवार की पूजा विधि

सावन सोमवार के लिए पूजन सामग्री

अगर आप भी पूर्णतः विधि विधान के साथ भगवान शिव जी की पूजा करना चाहते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको विशेष प्रकार की पूजन सामग्री की आवश्यकता होगी। इसके लिए पूजा के बर्तन, दही, शुध्द घी, पंच फल, कपूर, धूप, दीपक, कच्चा दूध, इत्र, पंचरस, पवित्र जल, गंगाजल, पांच प्रकार की मिठाई, बेलपत्र, धतूरा, भांग, पंचमेवा, आम्र मंजरी, तुलसी दल, मंदरा पुष्प, जौ, दक्षिणा, चांदी, सोना, रत्न, रूई, पार्वती जी के सोलह श्रृंगार के समान आदि की आवश्यकता पडेगी।

इन मंत्रों का करें उच्चारण

अगर आप भगवान शिव की पूजा विधि-विधान के साथ करना चाहते हैं तो बिना मंत्र के आपकी पूजा कभी सफल नहीं हो पाएगी इसलिए जरूरी है आप भगवान शिव जी को प्रसन्न करने वाले विशेष प्रकार के मंत्रों को याद कर लें तो चलिए जानते हैं भगवान शिव जी को प्रसन्न करने के लिए मंत्र....

शिव जी का पंचाक्षर मंत्र - ऊॅं नमः शिवाय।।

भगवान शिव के प्रिय मंत्र - इन मंत्रों का जाप आप पूरे दिन भी करें तो ये भी फलदायी होगा।

  • ॐ नमः शिवाय।
  • नमो नीलकण्ठाय।
  • ॐ पार्वतीपतये नमः।
  • ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय।
  • ॐ नमो भगवते दक्षिणामूर्त्तये मह्यं मेधा प्रयच्छ स्वाहा।

महामृत्यंजय मंत्र

ऊँ हौं जूं स: ऊँ भुर्भव: स्व: ऊँ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।

ऊर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ऊँ भुव: भू: स्व: ऊँ स: जूं हौं ऊँ।।

Posted By: Arvind Dubey