Shardiya Navratri 2020: शारदीय नवरात्रि का त्योहार शनिवार से शुरू हो चुका है और 25 अक्टूबर तक चलेगा। नौ दिनों तक चलने वाला यह त्योहार हर साल पूरी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस साल कोरोना वायरस महामारी की वजह से हमेशा की तरह चहल-पहल नहीं रहेगी, लेकिन भक्तों के उत्साह में कोई कमी नहीं होगी।

भक्तगण नवरात्रि के इन नौ दिनों में हर दिन अलग-अलग रंग के कपड़े पहनते हैं। नवरात्रि में हर दिन किसी रंग विशेष का महत्व होता है और उसी के अनुसार वस्त्र पहने जाते हैं। इस तरह दिन विशेष पर उस रंग के कपड़े पहनने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

पहला दिन : स्लेटी

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है और इस दिन ग्रे रंग के कपड़े पहने जाते हैं। यह रंग संतुलित विचारधारा का प्रतीक है और व्यक्ति को व्यावहारिक और सरल बनने हेतु प्रेरित करता है।

दूसरा दिन : नारंगी

नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रम्हचारिणी की पूजा की जाती है। माना जाता है कि ब्रम्हचारिणी ने भगवान शंकर को पाने के लिए कठोर तपस्या की थी। इस दिन नारंगी रंग के कपड़े पहनकर पूजा करना चाहिए। इससे सकारात्मक उर्जा प्राप्त होती है।

तीसरा दिन : सफेद

नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा होती है। इस दिन सफेद रंग का वस्त्र पहना जाता है। यह रंग शुद्धता और सरलता का पर्याय है।

चौथा दिन : लाल

नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा होती है। इन्हें ब्रम्हांडीय उर्जा का स्त्रोत माना जाता है, इसलिए इस दिन लाल रंग के वस्त्र पहनकर मां की आराधना करना चाहिए। लाल रंग उत्साह और प्रेम का प्रतीक है और माता के चढ़ावे में लाल रंग की चुनरी का महत्व होता है।

पांचवां दिन : गहरा नीला

नवरात्रि के पांचवें दिन स्कंदमाता की पूजा की जाती है। इस दिन गहरे नीले रंग के कपड़े पहने जाता है। यह रंग समृद्धि और शांति का प्रतिनिधित्व करता है।

छठा दिन : पीला

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायिनी की आराधना की जाती है। इस दिन पीले रंग के वस्त्र पहनकर मां की पूजा करना चाहिए। पीले रंग के वस्त्र पहनने से मनुष्य का चित्त आशान्वित और प्रसन्न रहता है। इससे व्यक्ति दिन भर प्रसन्न रहता है।

सातवां दिन : हरा

नवरात्रि के सातवें दिन कालरात्रि स्वरुप की पूजा की जाती है। इस रूप में देवी भयंकर और विनाशकारी नजर आती हैं। कालरात्रि की पूजा करने के लिए हरा रंग शुभ माना जाता है। हरा रंग प्रकृति का प्रतीक है और विकास, उर्वरता, शांति और स्थिरता की भावना उत्पन्न करता है।

आठवां दिन : मयूर हरा

नवरात्रि के आठवें दिन मां का महागौर का रूप होता है। इस दिन मयूर हरे रंग के वस्त्र पहनकर मां की आराधना की जाती है। यह रंग विशिष्टता और व्यक्तित्व को इंगित करता है। इस रंग को धारण करने से समृद्धि और नवीनता का लाभ मिलता है।

नौवां दिन : बैंगनी

नवरात्रि के नौवें दिन मां दुर्गा के सिद्धिदात्री रूप की पूजा की जाती है। इस दिन बैंगनी रंग के कपड़े पहनना लाभदायक हो सकता है। बैंगनी रंग भव्यता और संपन्नता को दर्शाता है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020