Vasant Panchami 2020: ज्ञान और बुद्धि का वरदान देने वाली मां सरस्वती का पर्व वसंत पंचमी देशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। इस दिन ज्ञान की देवी सरस्वती का पूजन विधि-विधान से करने से मां की असीम कृपा प्राप्त होती है। देवी की उपासना के साथ अपनों को बधाई देने की भी परंपरा है, जिससे मां शारदा की कृपा आप और आपके परिजनों पर हमेशा बनी रहे। उनकी बुद्धि का विकास हो, ज्ञान में वृद्धि हो, मन संयमित होकर सदमार्ग पर चलें, अच्छे कर्मों से ज्ञान और धन का भंडार भरा रहे और मां की कृपा अपने भक्तों पर हमोशा बनी। इस पर्व के लिए हम आपके लिए लाए हैं कुछ खास शुभकामना संदेश जिनको अपने प्रियजनों को भेजकर आप वसंत पंचमी के अवसर पर उनकी समृद्धि की कामना कर सकते हैं।

(1) वीणा लेकर हाथ में।

सरस्वती हो आपके साथ में।।

मिले मां का आशीर्वाद आपको हर दिन।

हर वार हो मुबारक बसंत पंचमी का त्योहार।।

(2) पीले पीले सरसों के फूल, पीली उडी पतंग ।

रंग बरसे पीले और छाये सरसों की उमंग ।।

जीवन में आपके रहे हमेशा बसंत के ये रंग।

इसी तरह जीवन में आपके हमेशा बनी रहे खुशियों की तरंग।।

(3) किताबों का साथ हो, पेन पर हाथ हो।

काॉपिया आपके पास हो, पढ़ाई दिन- रात हो।।

जिंदगी के हर इम्तिहान में आप पास हों।

बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं आपके साथ हों।

(4) सर्दी को तुम दे दो विदाई, बसंत की अब ऋतु है आई।

फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आई।।

बागों में बहार है आई, भँवरों की गुंजन है लायी।

उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आई।।

(5) देखो अब बसंत है आई।

वीणा लेकर हाथ मे,

सरस्वती हो आपके साथ मे,

मिले माँ का आशीर्वाद आपको हर दिन,

मुबारक़ हो आपको सरस्वती पूजा का ये दिन।

(6) मौसम की बहार।

आया बसंत ऋतु का त्योहार।।

आओ हम सब मिलके मनाएं।

दिल में भर के उमंग और प्यार।।

(7) की वर्षा, शरद की फुहार।

सूरज की किरणें, खुशियों की बहार।।

चंदन की खुशबू, अपनों का प्यार।

मुबारक हो आप सबको, बसंत पंचमी का त्योहार।।

(8) हलके हलके से हों बादल।

खुला-खुला हो आकाश।।

ऐसे सुहाने मौसम में हो।

खुशियों को आगाज़।।

(9) बसंत पंचमी की बधाई।

सहज शील हृदय में भर दे, जीवन त्याग से भर दे।

संयम सत्य स्नेह का वर दे, माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्लास भर दे।।

बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket