Vastu Tips । हर इंसान ऊर्जा से बना है और यह ब्रह्मांड भी ऊर्जा से चलता है। इस ऊर्जा को कॉस्मिक एनर्जी के नाम से जाना जाता है। वास्तु दोष के कारण यह ऊर्जा असंतुलित हो जाती है और उसके कारण हमारे जीवन के कई पक्ष प्रभावित होते हैं -

- घर से नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए नमक का प्रयोग करें। फर्श को खारे पानी से पोछें। घर के अंधेरे कोनों में एक कटोरी समुद्री नमक रखें। इसे 48 घंटे में बदलें।

- घर में अवांछित फर्नीचर और चीजों को स्टोर न करें। यह ऊर्जा के मुक्त प्रवाह को रोकता है और नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है।

- घर को साफ सुथरा रखें। फर्नीचर को इस तरह रखें कि घर में हवादार और विशाल वातावरण हो। ऐसा करने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

- घर के आसपास हरियाली रखें। यदि आप ऊर्जा में रुकावट पाते हैं तो ऊर्जा के प्रवाह को कम करने और सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए घर के फर्नीचर को पुनर्व्यवस्थित करने का प्रयास करें।

- घर का मुख्य द्वार को साफ सुथरा और अव्यवस्था मुक्त रखें। मुख्य द्वार ऊर्जा का प्रवेश द्वार है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आपका मुख्य द्वार सकारात्मक ऊर्जा को प्रवेश करने देता है।

- दर्पण का उपयोग वास्तु समाधान के रूप में किया जा सकता है। घर में सकारात्मक ऊर्जा को आमंत्रित करने के लिए सकारात्मक पेंटिंग, सुगंध, वॉल हैंगिंग और ध्वनि का प्रयोग करें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close