Vivah Muhurat 2021: आज से यानी 20 जुलाई 2021 दिन मंगलवार से चातुर्मास का प्रारंभ हो रहा है और आज के दिन देवशयनी एकादशी भी है। हिन्दू मान्यता के अनुसार आज से ही जगत के पालन हार भगवान विष्णु पूर्णतः 4 माह के लिए निद्रा लीन हो जाएगें। ऐसा कहा जाता है कि जब तक चातुर्मास लागू रहेगा तब तक कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाना चाहिए। ऐसे में भड़ली नवमी के दिन से ही शादी-विवाह, नवीन गृह प्रवेश और मुंडन संस्कार जैसे मांगलिक कार्यों पर पूरे चार माह के लिए रोक लग गई है। बहुत से लोग पिछले शादी के सीजन में शादी नहीं कर पाए वे अब चातुर्मास के बाद ही शादी कर पाएंगे। अगर आप भी इस लाइन में शामिल हैं तो चलिए जानते हैं कि चातुर्मास के बाद इस वर्ष शादी के लिए कितनी लग्न पड़ रही हैं?

इन दिनों कोई भी शुभ कार्य नहीं होगा

देवशयनी एकादशी यानी 20 जुलाई 2021 से लेकर 13 नवंबर 2021 यानी देवउठनी एकदशी तक कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जा सकता है। इस दौरान किसी भी शुभ कार्य को करने की सलाह नहीं दी जाती है। देवशयनी एकादशी से देवउठनी एकादशी के बीच की अवधि को चातुर्मास कहा जाता है और इस चातुर्मास के दौरान विवाह जैसे कोई भी मांगलिक कार्य करना पूरी तरह से वर्जित है। चातुर्मास के बाद विवाह का पहला मुहूर्त 15 नवंबर को है। इस प्रकार से नवंबर माह में 7 और दिसंबर माह में कुल 6 शुभ मुहूर्त पड़ रहे हैं।

इन चार महीने नहीं बजेगी शहनाई

आज से चातुर्मास की शुरूआत हो चुकी है। हिन्दू पंचांग के अनुसार चातुर्मास आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि से शुरू होकर कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि तक रहता है। साल 2021 में चातुर्मास 20 जुलाई 2021 से प्रारंभ हो चुका है। इसकी अवधि की अगर बात करें तो यह आने वाले माह 14 नवंबर 2021 तक रहेगा। इस दिन देवोत्थान एकादशी है और इस एकादशी के बाद से ही मांगलिक कार्य जैसे शादी-विवाह होना शुरू हो जाएगा।

फिर भगवान विष्णु करेगें सृष्टि का संचालन

14 नवंबर 2021 को देवउठनी एकादशी है इसे देवोत्थान एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन से भगवान विष्णु विश्राम काल पूरा करने के बाद क्षीर सागर से निकल कर सृष्टि का संचालन करते हैं। देवउठनी ग्यारस के ठीक एक दिन बाद यानी 15 नवंबर को माता तुलसी और सालिग्राम का विवाह हिन्दू धर्म के हर घर में संपन्न होगा। इसे देवोत्थान एकादशी कहा जाता है। यह वो दिन है जब से शुभ मुहूर्त की शुरूआत हो जाती है। इस दौरान हिन्दू धर्म में विवाह का पहला मुहूर्त 15 नवंबर 2021 को है। नवंबर माह में कुल 7 शुभ मुहूर्त और दिसंबर 2021 में कुल 6 शुभ मुहूर्त पड़ रहे हैं। चलिए जानते हैं कि कौन-कौन सी तारीख को शुभ मुहूर्त हैं?

नवंबर माह में शुभ मुहूर्त तारीख - 15, 16, 20, 21, 28, 29 और 30

दिसंबर माह में शुभ मुहूर्त तारीख - 1, 2, 6, 7, 11 और 13

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags