नई दिल्ली। क्रिकेट मैदान पर शाहिद अफदीरी और गौतम गंभीर के संबंध कभी भी अच्छे नहीं रहे। अफरीदी ने अब इस मामले को और आगे बढ़ाते हुए अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' में भी भारतीय ओपनर गंभीर पर निशाना साधा है।

अफरीदी ने कहा कि गौतम गंभीर का कोई व्यक्तित्व नहीं है और उनके साथ नजरिए की समस्या हैं। अफरीदी और गंभीर के संबंध वर्षों पहले बिगड़ गए थे जब 2007 में कानपुर वनडे में अफरीदी की गेंद पर रन दौड़ने के दौरान गंभीर उनसे टकरा गए थे।

इस घटना के बारे में अफरीदी ने अपनी किताब में लिखा कि वर्ष 2007 में एशिया कप के दौरान गंभीर ने एक रन पूरा कर लिया और वो सीधे दौड़ते हुए मेरे सामने आ गए। इसे अंपायरों को खत्म करना चाहिए था या मुझे इसको खत्म करना था। इस घटना के वक्त हम दोनों के बीच काफी निजी बातों को लेकर भी बहस हो गई थी।

अफरीदी ने कहा, कुछ प्रतिद्वंद्विता निजी होती है तो कुछ पेशेवर होती हैं। ओह कमजोर गंभीर, वो और उनका रवैया समस्या रहा है। उनका कोई व्यक्तित्व नहीं हैं। वे क्रिकेट के एक मामूली खिलाड़ी हैं। उनका कोई महान रिकॉर्ड नहीं है लेकिन उनका सिर्फ एटिट्यूड हैं।