ब्रिस्बेन। ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम ने बुधवार को इंटरनेशनल महिला वनडे क्रिकेट में इतिहास रच दिया। ऑस्ट्रेलिया ने एलिसा हिली के शानदार नाबाद शतक (112) की मदद से तीसरे वनडे में श्रीलंका पर 9 विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज की। यह इंटरनेशनल महिला वनडे क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया की लगातार 18वीं जीत है और उसने इसी के साथ अपने ही वर्ल्ड रिकॉर्ड को बेहतर किया।

श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। मेहमान टीम ने चमारी अट्टापट्टू के शतक (103) की मदद से 8 विकेट पर 195 रन बनाए। चमारी ने तो एक छोर थामे रखा था लेकिन दूसरे छोर से लगातार विकेट गिर रहे थे। हर्षिता मडावी (24) ने दूसरे विकेट के लिए चमारी के साथ 55 रनों की साझेदारी की। मेहमान टीम 87 रनों पर 5 विकेट खोकर संकट में घिर गई थी। अट्टापट्टू ने 124 गेंदों में 13 चौकों की मदद से 103 रन बनाए। जॉर्जिया वारहेम और मेगन शॉट ने 2-2 विेकट लिए।

इसके जवाब में एलिसा हिली और रचेल हैंस ने ऑस्ट्रेलिया को ठोस शुरुआत दिलाई। इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 22.3 ओवरों में 159 रन जोड़े। इस साझेदारी को अट्टापट्टू ने तोड़ा जब उन्होंने हैंस को एलबीडब्ल्यू किया। उन्होंने 7 चौकों की मदद से 63 रन बनाए। इसके बाद हिली ने कप्तान मेग लेनिंग (20 नाबाद) के साथ जीत की औपचारिकताएं पूरी की। हिली 76 गेंदों में 15 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 112 रन बनाकर नाबाद रहीं। यह उनका इंटरनेशनल वनडे में तीसरा शतक है। ऑस्ट्रेलिया ने 139 गेंद शेष रहते 1 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया।

यह ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम की इंटरनेशनल वनडे क्रिकेट में लगातार 18वीं जीत है। उसने यह सिलसिला 12 मार्च 2018 को वडोदरा में भारत के खिलाफ 8 विकेट की जीत के साथ शुरू किया था। ऑस्ट्रेलियाई टीम की खासियत यह रही कि उसने 18 में से 12 जीत विदेशी धरती पर दर्ज की। उसने इसी के साथ अपना ही रिकॉर्ड बेहतर किया। ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले बेलिंडा क्लार्क के नेतृत्व में दिसंबर 1997 से फरवरी 1999 तक लगातार 17 इंटरनेशनल वनडे मैच जीते थे। इसमें वर्ल्ड कप जीत भी शामिल थी।