लंदन (एजेंसियां)। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज का पांचवां और अंतिम टेस्ट गुरुवार से ओवल में हो शुरू होगा। 4 मैचों के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 की बढ़त ली हुई है, ऐसे में अंतिम टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की कोशिश आउटराइट सीरीज जीत की होगी। वहीं इंंग्लैंड अंतिम टेस्ट जीतकर इसे बराबरी पर समाप्त करने की कोशिश करेगा।

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया सीरीज में अपराजेय बढ़त ले चुका है, ऐसे में पिछला विजेता होने के कारण एशेज ट्रॉफी उसके पास ही रहेगी। साल 2001 के बाद ये पहला मौका है जब ऑस्ट्रेलिया ने अपने पास ट्रॉफी बरकरार रखी है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के पास 2001 के बाद इंग्लैंड में पहली एशेज सीरीज जीतने का भी मौका है।

स्मिथ जबर्दस्त फॉर्म में, वॉर्नर की चिंता

ऑस्ट्रेलिया के लिए बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ट्रंप कार्ड साबित हुए हैं। स्मिथ का बल्ला जमकर चल रहा है। मेजबान इंग्लैंड उनसे निपटने के लिए अभी तक कोई उपाय नहीं खोज पाई है। सीरीज में बराबरी के लिए इंग्लैंड को स्मिथ पर लगाम लगाना होगी। बता दें कि स्मिथ अभी तक सीरीज की 5 पारियों में 134 से अधिक की औसत से 671 रन बना चुके हैं। इनमें एक दोहरा शतक, 2 शतक और दो अर्द्धशतक शामिल हैं। वहीं सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर का फॉर्म टीम के लिए चिंता का सबब है। वॉर्नर अभी तक सीरीज में केवल 79 रन बना पाए हैं। वे खासतौर से तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के शिकार हुए हैं। ब्रॉड ने उन्हें सीरीज में 6 बार आउट कर चुके हैं, जिनमें डक आउट हैट्रिक का शर्मनाक रिकॉर्ड उनके नाम हो गया है। चौथे टेस्ट की दोनों पारियों में वे खाता भी नहीं खोल पाए।

गेंदबाज फॉर्म में

ऑस्ट्रेलिया के लिए जहां बल्लेबाज रन बना रहे हैं, वहीं गेंदबाज भी विकेट लगातार विकेट ले रहे हैं। जोश हेजलवुड और पैट कमिंस शानदार फॉर्म में हैं। दोनों मिलकर सीरीज में अब तक 42 विकेट ले चुके हैं। वे ओवल में भी इस फॉर्म को जारी रखना चाहेंगे।

इंग्लैंड की दोहरी चिंता

इधर इंग्लैंड के सामने सीरीज में बराबरी का मौका है, ऐसे में वो ये टेस्ट हर हाल में जीतना चाहेगा। लेकिन टीम की बल्लेबाजी बिल्कुल नहीं चल रही। सारे बल्लेबाज फेल हो रहे हैं। खासतौर से कप्तान जो रूट भी खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। बेन स्टोक्स का खेलना संदेह के घेरे में है। चौथे टेस्ट की पहली पारी में उनके कंधे में चोट लग गई थी और वे ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में गेंदबाजी के लिए नहीं आए थे। ऐसे में इंग्लैंड के लिए कोई ऐसा बल्लेबाज नहीं है जो रनों की जिम्मेदारी उठाए। जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो और जोस बेटलर इस सीरीज में वर्ल्ड कप की शानदार लय कायम नहीं रख पाए हैं जिसके चलते इंग्लैंड कोई खास चुनौती नहीं दे पा रहा है।

कोच बेलिस का बिदाई मैच

इधर ये मैच इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस का अंतिम मैच होगा। एशेज सीरीज के साथ ही टीम के साथ उनका करार समाप्त हो जाएगा। ऐसे में खिलाड़ी उन्हें जीत का तोहफा देना चाहेंगे। लेकिन ये आसान नहीं होगा क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई टीम जबर्दस्त फॉर्म में है।

ब्रेडमैन के रिकॉर्ड पर स्मिथ की नजर

एशेज सीरीज के इस अंतिम टेस्ट में स्टीव स्मिथ महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रेडमैन का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। स्मिथ इस मैच में यदि 304 रन बना लेते हैं तो वे ब्रेडमैन का 89 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ देंगे। ब्रेडमैन ने साल 1930 की एशेज सीरीज के 5 मैचों में कुल 974 रन बनाए थे। ये एशेज के साथ-साथ किसी भी टेस्ट सीरीज में एक बल्लेबाज द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं और ये रिकॉर्ड अब तक बरकरार है। स्मिथ एशेज सीरीज के 4 मैचों में 134.20 के औसत से कुल 671 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने एक दोहरा शतक, दो शतक और दो अर्द्धशतक लगा चुके हैं। स्मिथ चोट के चलते सीरीज के तीसरे टेस्ट में नहीं खेले पाए थे।

संभावित टीमें : इंग्लैंड - जो रूट (कप्तान), जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो, स्टुअर्ट ब्रॉड, रोरी बर्न्स, जोस बटलर, सैम करैन, जो डेनली, जैक लीच, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स।

ऑस्ट्रेलिया - डेविड वॉर्नर, मार्कस हैरिस, मार्नस लाबुशाने, स्टीव स्मिथ, मिचेल मार्शल, मैथ्यू वेड, टिम पेन (कप्तान), पैट कमिंस, पीटर सिडल, मिचेल स्टार्क, नाथन लियोन, जोश हेजलवुड।