नई दिल्ली। IPL अनुबंध की वजह से कई ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स को मोटी रकम मिलती है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने सनसनीखेज दावा किया कि अपने IPL अनुबंध को बनाए रखने की वजह से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स Virat Kohli और उनके भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ आक्रामक रवैया नहीं अपनाते हैं।

बीसीसीआई दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है और माइकल क्लार्क का मानना है कि इस पैसे वजह से टीम इंडिया के सामने कई अंतरराष्ट्रीय टीमें दब जाती हैं। क्लार्क ने कहा, हर कोई जानता है कि बीसीसीआई आर्थिक आधार पर इंटरनेशनल स्तर और आईपीएल की वजह से कितना मजबूत है। ऑस्ट्रेलिया और अन्य टीमें इसी वजह से टीम इंडिया के खिलाफ ज्यादा आक्रामक नहीं रहती हैं। वे जानते हैं कि उन्हें आईपीएल में विराट कोहली और अन्य भारतीय खिलाड़ियों के साथ खेलना होगा।

कई ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को आईपीएल टीमों ने मोटी रकम पर खरीदा है। पैट कमिंस तो इस लीग के इतिहास के सबसे महंगे बिकने वाले विदेशी खिलाड़ी बने थे जब कोलकाता नाइटराइडर्स ने उन्होंने पिछले साल दिसंबर में 15.5 करोड़ रुपए में खरीदा था। IPL 2012 में पुणे वॉरियर्स की तरफ से 6 मैच खेलने वाले माइकल क्लार्क ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आईपीएल की वजह से विराट कोहली के साथ संबंध खराब नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, 'आईपीएल के लिए दावेदारी करने वाले हर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मन में यही सोचता हैं कि मैं विराट कोहली को स्लेज नहीं करूंगा। मैं चाहता हूं कि वो मुझे RCB टीम के लिए खरीदें ताकि मैं 7 सप्ताह में 1 मिलियन डॉलर कमा सकूं।'

2015 में अपने नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले माइकल क्लार्क का मानना है कि आईपीएल की वजह से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स अब इंटरनेशनल मैचों में भारत के खिलाफ ज्यादा आक्रामकता नहीं दिखाते हैं। पहले कभी भी ऑस्ट्रेलियाई टीम को इतना नरम रूख अपनाते हुए नहीं देखा गया है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना