ढाका। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) प्रमुख नजमुल हसन ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट को नापसंद करने के बावजूद शाकिब अल हसन टेस्ट टीम के कप्तान बने रहेंगे। अफगानिस्तान के खिलाफ मिली करारी हार के बाद शाकिब ने टेस्ट कप्तानी छोड़ने की इच्छा जताई थी।

नजमुल ने स्वीकारा कि शाकिब टेस्ट क्रिकेट के प्रति उत्सुक नहीं है। हमने देखा है कि विदेशी दौरों पर भी वे टेस्ट क्रिकेट के दौरान आराम करना चाहते हैं।

शाकिब के नेतृत्व वाली बांग्लादेश टीम को चित्तगोंग में सोमवार को अफगानिस्तान के हाथों 224 रनों की करारी हार का सामना करना पड़ा था। नजमुल ने कहा, उनकी टेस्ट के प्रति रूचि नहीं है लेकिन जब वे कप्तान होते हैं तो खेल पर ध्यान देना ही होता है। हमने ऐसा कभी सुना नहीं कि कप्तान होने के बावजूद उन्होंने बेरुखी दिखाई। यदि आप कप्तान नहीं हो तो मैच से दूर रह सकते हो लेकिन कप्तान हो तो आपको खेलना ही होता है। अफगानिस्तान के खिलाफ मिली हार के बाद मैंने शाकिब से चर्चा की। इस वक्त हमारे खिलाड़ी इमोशनल है लेकिन जैसे ही वे थोड़े शांत होंगे, मैं उनसे बातचीत करुंगा।

अफगानिस्तान के हाथों मिली हार के बाद शाकिब ने कहा था कि वे टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ना चाहते हैं। बांग्लादेश ऐसी पहली टीम बन गई जिसे 10 देशों से टेस्ट मैच में हार मिली है। बांग्लादेश टीम का वर्ल्ड कप में प्रदर्शन निराशाजनक रहा था और जुलाई में श्रीलंका ने उसका 3-0 से सफाया किया था।

शाकिब ने कहा था, मेरे लिए अच्छा रहेगा यदि मैं कप्तानी के दायित्व से मुक्त हो जाऊं। यह मेरे खेल के लिए भी अच्छा होगा, क्योंकि कप्तान बने रहने की स्थिति में मुझे लगातार बीसीबी के संपर्क में रहना होता है। शाकिब अब तीन देशों के टी20 सीरीज में बांग्लादेश की कमान संभालेंगे। इस सीरीज में बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अलावा जिम्बाब्वे की टीम भी हिस्सा लेगी। यह सीरीज शुक्रवार से शुरू होगी।