नई दिल्ली (एजेंसियां)। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) में फिर से ठन गई है। इस विवाद के चलते BCCI ने ICC द्वारा हाल ही में लिए फैसलों को मानने से इंकार कर दिया है। बता दें कि ICC ने अगले 8 सालों के कार्यक्रमों की योजना तैयार की है और इस अवधि में 2 टी20 वर्ल्ड कप, दो वनडे वर्ल्ड कप के अलावा 6 देशोंं के वैश्विक टूर्नामेंट का आयोजन करने का प्रस्ताव तैयार किया है।

बता दें कि BCCI की प्रशासकों की समिति (COA) ने कहा कि वो हाल ही में दुबई में हुई ICC बोर्ड की बैठक में लिए गए फैसलों को नहींं मानेगा। इसके पीछे BCCI ने कारण बताते हुए स्पष्ट किया कि इस बैठक में अमिताभ चौधरी भारत के अधिकृत प्रतिनिधि नहीं थे। चौधरी को COA ने इस बैठक में भाग लेने से रोका था। लेकिन चौधरी ICC अध्यक्ष शशांक मनोहर के व्यक्तिगत आमंत्रण पर इस बैठक में शामिल हुए और फिर मनोहर की अध्यक्षता में नीतिगत फैसलों के लिए हुई बैठक और फिर मतदान में भाग भी लिया। जब चौधरी BCCI के अधिकृत प्रतिनिधि थे ही नहीं तो फिर BCCI इन फैसलों को कैसे मान सकता है। ICC के इन प्रस्तावों पर BCCI की सोच अलग है।

ये हुए फैसले

बता दें कि ICC की इस बैठक में बोर्ड ने अगले 8 साल के लिए अपने कार्यक्रम को अंतिम रुप दिया था। इसके तहत ICC ने हर 3 साल में वनडे वर्ल्ड कप और हर साल टी20 वर्ल्ड कप आयोजित करने का प्रस्ताव तैयार किया था। BCCI ने तुरंत ही इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। जाहिर है यदि ये प्रस्ताव मंजूर होता तो BCCI को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता। अब ICC द्वारा तैयार कार्यक्रम के मुताबिक इन 8 सालों में 2 टी20 वर्ल्ड कप और 2 वनडे वर्ल्ड कप के अलावा 6 देशों का 50-50 ओवर का वर्ल्ड टूर्नामेंट भी आयोजित किया जाएगा।

BCCI ने दिखाया कड़ा रूख

दरअसल BCCI और ICC के बीच पिछले कुछ समय से सौहार्द माहौल नहीं रहा है। जब ICC ने हर 3 साल में वनडे वर्ल्ड कप और हर साल टी20 वर्ल्ड कप आयोजित करने का प्रस्ताव रखा। तभी मामले ने तूल पकड़ा। अब BCCI ने अपना रूख और कड़ा कर दिया है। COA ने ICC को लिखे पत्र में कहा- हम ICC की बैठक में अमिताभ चौधरी को अपना अधिकृत प्रतिनिधि नहीं मानते। ऐसे में हम ICC के किसी फैसले को मानने के लिए बाध्य नहीं हैं।

Posted By: Rahul Vavikar