भारतीय खिलाड़ी भले ही IPL 2021 में व्यस्त हों, लेकिन इस दौरान भी वो इंग्लैंड में होनेवाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल की तैयारी कर सकते हैं। BCCI ने उनकी प्रैक्टिस और तैयारी के लिए IPL सीजन के दौरान भी विशेष इंतजाम किया है। भारतीय खिलाड़ियों को टी20 टूर्नामेंट के दौरान भी अभ्यास के लिए लाल ड्यूक गेंद उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा भी अगर गेंदबाज किसी तरह की मदद चाहेंगे, तो नेशनल टीम के कोच उनकी फौरन मदद करेंगे।

आपको बता दें कि IPL के बाद भारत को 18 से 22 जून के बीच न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेलना है। इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला भी होनी है। ऐसे में अगर टेस्ट मैच के खिलाड़ी लाल ड्यूक गेंद से प्रैक्टिस करना चाहें, तो उन्हें ये सुविधा मिल सकती है। लेकिन ये पूरी तरह वैकल्पिक व्यवस्था होगी, और खिलाड़ियों की मर्जी पर निर्भर करेगी। आईपीएल फाइनल और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के बीच केवल 20 दिनों का अंतर है और इसी को ध्यान में रखते हुए बोर्ड ने यह कदम उठाया है।

IPL 29 मई को खत्म होगा और अगर टीम एक-दो दिनों में दौरे पर निकल गई, तो इंग्लैंड में सबसे पहले उन्हें एक सप्ताह तक आइसोलेशन में रहना होगा। उसके बाद नेट प्रैक्टिस के लिए मुश्किल से 10 दिनों का समय मिलेगा। न्यूजीलैंड की टीम इससे पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेलकर इसके लिए तैयार होगी, जबकि भारतीय खिलाड़ी IPL के तुरंत बाद वहां पहुंचेंगे। दोनों प्रारुपों में काफी अंतर होता है, और टेस्ट मैच के लिए ढलने में उन्हें वक्त लग सकता है। जिन खिलाड़ियों को IPL में ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिलेगा, वो लोग इस समय का इस्तेमाल टेस्ट मैच की तैयारी के लिए कर सकते हैं।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags