एडिलेड। वेस्टइंडीज के महान क्रिकेटर ब्रायन लारा ने खुलासा किया कि उन्हें लग रहा था कि ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वॉर्नर टेस्ट क्रिकेट में उनके सबसे ज्यादा रनों के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे और उन्होंने तो वॉर्नर को इसकी बधाई देने की तैयारी भी शुरू कर दी थी।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड लारा के नाम दर्ज है जब उन्होंने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ 400 रनों की नाबाद पारी खेली थी। वॉर्नर ने रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ एडिलेड टेस्ट मैच में रिकॉर्ड तिहरा शतक लगाथा और उनके पास लारा को पीछे छोड़ने का मौका था, लेकिन जब वे 335 रनों पर पहुंचे तो ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने 589/3 के स्कोर पर पारी घोषित कर दी।

लारा इस दौरान एक प्रमोशनल इवेंट के सिलसिले में एडिलेड में ही मौजूद थे। उन्होंने खुलासा करते हुए कहा, 'मुझे लग रहा था कि वॉर्नर मेरा रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं और ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रबंधन उन्हें इस बात को मौका देगा। चूंकि मैं वहां मौजूद था तो मुझे लगा कि वे मुझे वहां बुलाएंगे और इसके चलते मैंने वॉर्नर को बधाई देने की तैयारी भी शुरू कर दी थी। रिकॉर्ड तो बनते ही टूटने के लिए हैं। यदि ऐसा होता तो वहां पहुंचकर वॉर्नर को बधाई देना शानदार होता।'

लारा ने दो बार बनाया था रिकॉर्ड :

लारा ने टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड दो बार तोड़ा था। पहले उन्होंने अपने ही देश के गैरी सोबर्स का 365 रनों का रिकॉर्ड तोड़ा था। उन्होंने जब 375 रन बनाकर यह रिकॉर्ड तोड़ा था तो उन्हें बधाई देने सोबर्स खुद पहुंच थे। दूसरी बार लारा ने अपने ही रिकॉर्ड को बेहतर कर इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 400 रनों की पारी खेली थी।

खराब मौसम के चलते ऑस्ट्रेलिया ने घोषित की थी पारी :

रविवार को टेस्ट मैच का दूसरा ही दिन था और ऑस्ट्रेलिया के पास पाकिस्तान की पारी को दो बार आउट करने का पर्याप्त समय था। ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रबंधन ने पारी घोषित करने का फैसला इसलिए लिया था क्योंकि मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनों तक बारिश का अनुमान था और इसके चलते वे कोई जोखिम नहीं उठाना चाहते थे।

यह भी पढ़ें: Happy Birthday Mithali Raj: महिला इंटरनेशनल वनडे में मिताली राज के इस रिकॉर्ड को कोई खतरा नहीं

Posted By: Kiran Waikar