लाहौर (एजेंसियां)। श्रीलंका ने टी20 सीरीज में 3 मैचों की सीरीज में पाकिस्तान का 3-0 से सफाया किया। श्रीलंका की ये जीत इसलिए बड़ी है क्योंकि इस दौरे पर उसकी नई टीम खेल रही थी और पाकिस्तान दुनिया की नंबर एक टी20 टीम है। लेकिन पूरी सीरीज में श्रीलंका की युवा टीम ने पाकिस्तान को कोई मौका नहीं दिया। अब टी20 सीरीज में सफाया होने के बाद टीम के हेड कोच व चीफ सिलेक्टर मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तानी क्रिकेट सिस्टम को दोषी ठहराया है। मिस्बाह के मुताबिक उन्हें टीम से जुड़े अभी कुछ ही दिन हुए हैं, ऐसे में जो खामियां लंबे समय से टीम से जुड़ी हुई हैं, उन्हें वे तुरंत दूर नहीं कर सकते। इसमें थोड़ा समय लगेगा।

गौरतलब है कि श्रीलंका ने 3 मैचों की टी20 सीरीज में पाकिस्तान का सूपड़ा साफ किया। हालांकि इससे पहले 3 मैचों की वनडे सीरीज जरुर पाकिस्तान ने 2-0 से जीतीं। लेकिन टी20 सीरीज में तो श्रीलंका ने पाकिस्तान को कोई मौका ही नहीं दिया। श्रीलंका ने खेल के हर विभाग में पाकिस्तान को पछाड़ा।

टीम की इस शर्मनाक हार के बाद हेड कोच व चीफ सिलेक्टर मिस्बाह उल हक पर सवाल उठ रहे हैं। लेकिन मिस्बाह इस प्रदर्शन के बाद सामने आए। उन्होंने टीम की मौजूदा हार और निराशाजनक प्रदर्शन के लिए पाकिस्तान के क्रिकेट सिस्टम को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा - इस सीरीज के बाद हमें बहुत कुछ सीखने को मिला है। खासतौर से हमारी खामियां बड़े पैमाने पर उजागर हुईं और उनके बादे में हमें पता चला है। अब हम इन खामियों को दूर करने का काम करेंगे। मैं टीम के साथ अभी जुड़ा हूं। मेरे पार जादू की छड़ी नहीं है कि घुमाते ही टीम चमत्कारी प्रदर्शन करने लगे। इसमें थोड़ा समय लगेगा। जो पुराना सिस्टम यहां चला आ रहा है ये प्रदर्शन उसी का नतीजा है। हमारे यहां घरेलू स्तर पर प्रतिभाओं की भी कमी है। अब हम खामियों को दूर करने का काम करेंगे।

मिस्बाह ने कहा - सीरीज में खेली इस टीम के कई खिलाड़ी काफी समय से खेल रहे हैं। इस टीम ने ही हमें टी20 क्रिकेट में दुनिया की नंबर एक टीम बनाई। लेकिन हम यदि ऐसी टीम से हारते हैं जिसमें उसके मुख्य खिलाड़ी ना हो तो हमें खुद को नंबर एक कहने के हक नहीं है। ये हमारे लिए सोचना और करने का समय है। यह काफी निराशाजनक है और हम बहुत खराब खेले। मैं इस हार की जिम्मेदारी लेता हूं, लेकिन मैं ये बता दूं कि मुझे टीम से जुड़े कुछ ही दिन हुए हैं।

गौरतलब है कि टी20 सीरीज में पाकिस्तान की बल्लेबाजी पूरी तरह विफल रही। कोई भी बल्लेबाज इसमें नहीं खेल पाया जिसके चलते वो सीरीज के तीनों मैचों में लक्ष्य हासिल नहीं कर पाया। जबकि टीम में बाबर आजम, अहमद शहजाद, उमर अकमल और कप्तान सरफराज अहमद जैसे बल्लेबाज थे। लेकिन ये सभी पूरी सीरीज में फेल रहे।

बहरहाल पाकिस्तान की इस शर्मनाक हार के बाद मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिस्बाह उल हक आलोचकों के निशाने पर हैं। पाकिस्तान क्रिकेट में एक साथ दो महत्वपूर्ण पद संभालने वाले मिस्बाह पहले व्यक्ति हैं। मिस्बाह को दोनों प्रमुख जिम्मेदारियां देने पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की भी बहुत आलोचना हुई थी।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना