मुंबई। Cricket news: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) द्वारा पुरुष क्रिकेट टीम के लिए 2 चयनकर्ताओं के लिए आवेदन मांगे गए हैं। इसके चलते 3 पूर्व खिलाड़ियों ने इन पदों के लिए आवेदन किया है। बता दें कि भारत के पूर्व लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन, पूर्व ऑफ स्पिनर राजेश चौहान और बाएं हाथ के बल्लेबाज अमय खुरसिया ने इसके लिए आवेदन भरा है। आवेदन के लिए अंतिम तारीख 24 जनवरी है।

बता दें कि BCCI की मौजूदा चयन समिति प्रमुख एमएसके प्रसाद और सदस्य गगन खोड़ा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। वहीं शेष तीन सदस्यों शरणदीप सिंह, जतिन परांजपे और देवांग गांधी एक और सत्र तक अपने पद पर बने रहेंगे क्योंकि अभी उनका 1 साल का कार्यकाल बचा है। ऐसे में बोर्ड ने 2 चयनकर्ताओं के लिए उम्मीदवारों से आवेदन मांगे हैं।

मौजूदा 5 सदस्यीय चयन समिति अपने अनुभव को लेकर काफी विवादों में रही है। ऐसे में बोर्ड ने इस बार अनुभव को ही योग्यता में शामिल किया है। बोर्ड ने शर्त रखी है कि भारतीय पुरुष टीम के राष्‍ट्रीय चयनकर्ताओं के 2 पदों के लिए आवेदन को कम से कम 7 टेस्‍ट मैच या 20 फर्स्‍ट क्‍लास मैच या 10 वनडे या 20 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेलने का अनुभव होना आवश्‍यक है। इसके अलावा आवेदक को संन्‍यास लिए कम से कम 5 साल हो चुके हो।

ये है दावेदार

फिलहाल शिवरामकृष्णन चीफ सिलेक्टर के पद के लिए प्रबल दावेदार हैं। 1987 की बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारतीय टीम की खिताबी जीत में शिवरामकृष्णन की अहम भूमिका रही थी। वे करीब 20 सालों से कमेंटरी के अलावा आईसीसी क्रिकेट समिति का हिस्सा रहे हैं। वे वर्तमान में नेशनल क्रिकेट एकेडमी में स्पिन गेंदबाजी कोच हैं। उन्होंने 9 टेस्ट और 16 वनडे (25 अंतरराष्ट्रीय मैच) खेले हैं। शिवरामकृष्णन के अलावा पूर्व स्पिनर राजेश चौहान और इंदौर के बाएं हाथ के बल्लेबाज अमय खुरासिया ने भी आवेदन किया है। चौहान ने 21 टेस्ट और 35 वनडे खेले हैं। वहीं खुरासिया ने 12 वनडे मैच खेले हैं। माना जा रहा है कि वेंकटेश प्रसाद और पूर्व भारतीय बल्लेबाजी कोच संजय बांगर भी इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

कुल अनुभव 13 टेस्ट मैचों का

मौजूदा चयन समिति काफी विवादों में रही। सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, फारुक इंजीनियर जैसे कई पूर्व क्रिकेटरों ने मौजूदा चयन समिति के पांचों सदस्यों को कम अनुभव पर सवाल उठाए। मौजूदा समिति को हमेशा लाइटवेट समिति बताया गया क्योंकि सभी सदस्यों को कुल 13 टेस्ट मैचों का अनुभव है।

2016 में बनी थी समिति

बता दें कि एमएसके प्रसाद को 2016 टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय टीम का मुख्य चयनकर्ता बनाया था। उनके मुख्य चयनकर्ता रहते भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में पहली बार टेस्ट सीरीज हराया। इसके अलावा भी कई सीरीज में भारतीय टीम ने लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। हालांकि कुछ फैसलों के लिए उनकी काफी आलोचना हुई है।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket