एडिलेड। David Warner retirement: पाकिस्तान के खिलाफ एडिलेड में खेले गए दूसरे टेस्ट में शानदार तिहरा शतक लगाने वाले ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर अपने क्रिकेट करियर को विराम देने के मूड में हैं। वॉर्नर ने अपने संन्यास को लेकर संकेत दिए हैं कि वे अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं।

बता दें कि वॉर्नर ने पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 335 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली। इस पारी के साथ वॉर्नर ने महान डॉन ब्रैडमैन सहित क्रिकेट के कई रिकॉर्ड तोड़े। मैच के बाद में मीडिया से चर्चा करते हुए वॉर्नर ने कहा कि 2020 वर्ल्ड कप के बाद वे टी20 फॉर्मेट को छोड़ने पर विचार करेंगे। उन्होंने हालांकि टेस्ट क्रिकेट खेलना जारी रखने की बात कही।

गौरतलब है कि वॉर्नर की ऐतिहासिक पारी के बूत ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहला पारी 3 विकेट पर 589 रन बनाकर समाप्त घोषित की। इसके जवाब में पाकिस्तान की पहली पारी 302 रनों पर समाप्त हुई थी। फिर फालोऑन खेलते हुए पाकिस्तान अपनी दूसरी पारी में केवल 239 रन पर ही सिमट गया। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने ये मैच पारी व 48 रनों से जीता। इससे पूर्व ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिसबेन में खेला गया पहला टेस्ट भी पारी व 5 रनों से जीता था। ऑस्ट्रेलिया ने 2 मैचों की ये सीरीज 2-0 से जीती।

एडिलेड टेस्ट के बाद वॉर्नर ने कहा- मैं टी20 वर्ल्ड कप के बाद इस फॉर्मेट को छोड़ने पर विचार करुंगा। मेरे ख्याल से टी20 वर्ल्ड कप के बाद मैं इस बारे में सोचूंगा। 6 महीने बाद वर्ल्ड कप खेला जाना है और हमारे पास अच्छे खिलाड़ियों की भरमार है। मुझे लगता है कि अब युवा खिलाड़ियों को मौका मिलना चाहिए। ऐसे में मैं इस पर विचार करुंगा।

वॉर्नर ने कहा कि वे थकान के कारण टी20 फॉर्मेट को अलविदा कहना चाहते हैं। हालांकि मैंने अभी कुछ सोचा नहीं है लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि जब आप टेस्ट क्रिकेट खेल रहे होते हैं तो आप थकान महसूस करते हो। हालांकि बता दूं अभी कि मैंने तय नहीं किया है कि मैं किस फॉर्मेट में खेलना जारी रखूंगा और किसे छोड़ूंगा।

गौरतलब है कि वॉर्नर ने एडिलेड में नाबाद 335 रन बनाए। इसी के साथ वे डे नाइट टेस्ट में तिहरा शतक लगाने वाले ऑस्ट्रेलिया के पहले और दुनिया के दूसरे बल्लेबाज हैं। उनके लिए ये तिहरा शतक इसलिए भी खास रहा क्योंकि बॉल टेम्परिंग मामले में एक साल के बैन के बाद उन्होंने एशेज सीरीज में वापसी की थी। लेकिन एशेज में वे बुरी तरह नाकाम रहे। पर पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने जबर्दस्त वापसी की।

Posted By: Rahul Vavikar