लीड्स Eng vs Aus 3rd Test Day 2। ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे एशेज टेस्ट के दूसरे दिन मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में 6 विकेट खोकर 171 रन बना लिए थे। पहली पारी में भी शानदार अर्द्धशतक जमाने वाले मार्नुस लाबुशाने दूसरी पारी में भी शानदार 53 रन बनाकर क्रीज पर हैं, जबकि जेम्स पेटिंसन 2 रन बनाकर उनके साथ मौजूद हैं। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया की कुल बढ़त 283 रनों की हो गई है। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के 179 रनों के जवाब में इंग्लैंड की पहली महज 67 रनों पर सिमट गई थी।

दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए लाबुशाने जहां 53 रन बनाकर खेल रहे हैं, वहीं मार्कस हैरिस ने 19, उस्मान ख्वाजा ने 23, ट्रेविस हेड ने 25 और मैथ्यू वेड ने 33 रनों की उपयोगी पारियां खेलीं। लाबुशाने का ये लगातार तीसरी पारी में तीसरा अर्द्धशतक है।

इंंग्लैंड का 71 सालों में सबसे कम स्कोर

179 रनों पर सिमटने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को लंच के कुछ देर बाद केवल 67 रनों पर आउट कर दिया। ये इंग्लैंड का 1948 के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में सबसे कम स्कोर है। इंग्लैंड ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 179 रनों पर समेटकर दबाव बनाया था, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज इंग्लैंड पर ऐसे कहर बनकर टूटे कि वो न केवल शर्मनाक स्थिति में पहुंच गया बल्कि वो टेस्ट क्रिकेट के 12वें सबसे कम स्कोर पर सिमट गया।

सीरीज में 0-1 से पिछड़ी रही इंग्लैंड की पारी सुबह शुरू हुई। उसके पास मैच पर पकड़ बनाने का अच्छा मौका था, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने उसकी बल्लेबाजी बिखेरकर रख दी। इंग्लैंड ने जेसन रॉय (9), जो रूट (0), रोरी बर्न्स (9) और बेन स्टोक्स (8) के विकेट जल्दी खो दिए। लंच के समय इंग्लैंड का स्कोर 6 विकेट पर 54 रन था।

लंच के बाद पहली ही गेंद पर क्रिस वोक्स भी चलते बने। जल्द ही पूरी टीम 67 रनों पर ढेर हो गई और ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी के आधार पर 112 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त मिली। इंग्लैंड की बल्लेबाजी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसका केवल एक बल्लेबाज जो डेनली ही दहाई का आंकड़ा पार कर सके। डेनली ने 12 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया के लिए जोश हेजलवुड ने 30 रन देकर 5 विकेट लिए। वहीं पैट कमिंस ने 3 और जेम्स पेटिंसन ने 2 विकेट लिए।

इससे पूर्व पहले दिन बारिश से प्रभावित मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही और 25 रनों के अंदर दो झटके लगे। आर्चर ने मार्कस हैरिस (8) को चलता किया तो स्टुअर्ट ब्रॉड ने उस्मान ख्वाजा (8) को पैवेलियन लौटाया। इसके बाद वॉर्नर और लाबुशाने ने तीसरे विकेट के लिए शतकीय भागीदारी कर पारी को संभाला। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 111 रनों की साझेदारी की। आर्चर ने वॉर्नर को चलता किया। वॉर्नर ने 7 चौकों की मदद से 64 रन बनाए। यह साझेदारी टूटते ही विकेटों की झड़ी लग गई।

आर्चर ने इसके अलावा मार्कस हैरिस (8), मैथ्यू वेड (0), जेम्स पैटिंसन (2), पैट कमिंस (0) और नाथन लियोन (1) को शिकार बनाया। लाबुशाने 74 रन बनाने के बाद स्टोक्स की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हुए। उन्होंने 10 चौके लगाए। वॉर्नर और लाबुशाने के अलावा सिर्फ टिम पैन ही दोहरी रन संख्या में पहुंच पाए। उन्होंने 11 रन बनाए।

आर्चर ने 45 रन देकर छह विकेट लिए। जबकि स्टुअर्ट ब्रॉड ने दो और क्रिस वोक्स व बेन स्टोक्स ने एक-एक विकेट लिए। ऑस्ट्रेलिया के सबसे उपयोगी खिलाड़ी स्टीव स्मिथ चोट के कारण इस टेस्ट में नहीं खेल रहे हैं और मेहमान टीम को उनकी कमी खली।