मल्टीमीडिया डेस्क। मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच आज लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। इंग्लैंड को वर्ल्ड कप की शुरुआत से पहले से ही खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में देखा जा रहा था और टूर्नामेंट में तमाम उतार-चढ़ाव के बाद वह फाइनल में पहुंच ही गया। उसने पिछले तीन मैच जिस अंदाज में जीते उससे उसके खिताब जीतने के अवसर बढ़ गए हैं।

इंग्लैंड ने राउंड रॉबिन दौर में भी करो या मरो की स्थिति वाले मुकाबले में न्यूजीलैंड को एकतरफा अंदाज में हराया था। इस 119 रनों की शानदार जीत की वजह से इंग्लिश खिलाड़ी फाइनल में बढ़े हुए मनोबल के साथ मैदान में उतरेंगे।

सिर्फ शानदार खेल ही नहीं वरन कुछ संयोग भी इंग्लैंड की खिताबी दावेदारी को मजबूत बनाते हैं। यदि पिछले दो वर्ल्ड कप की बात की जाए तो मेजबान देश ही विजेता बना है, इस लिहाज से देखा जाए तो इस बार इंग्लैंड का दावा मजबूत हो जाता है।

2011 का वर्ल्ड कप भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश ने आयोजित किया था और खिताबी मुकाबला खेला गया था दो सह-मेजबानों भारत और श्रीलंका के बीच। भारत ने मुंबई में श्रीलंका को आसानी से हराकर खिताब अपने नाम किया था। इसी तरह 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने वर्ल्ड कप की मेजबानी की थी।

इस वर्ल्ड कप का फाइनल भी दोनों सह-मेजबानों के बीच खेला गया था और ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था। इस बार यानी 2019 में इंग्लैंड वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा है और वह फाइनल में पहुंच चुका है। यदि पिछले दो संस्करणों को आधार माने तो इस बार इंग्लैंड के वर्ल्ड कप विजेता बनने की प्रबल संभावना है।

इसके अलावा भी एक संयोग इंग्लैंड को प्रबल दावेदार बनाता है। आइए उस पर नजर डालते हैं...

- 2011 में भारत ने क्वार्टर फाइनल में गत विजेता (2007 के चैंपियन) ऑस्ट्रेलिया को हराकर वर्ल्ड कप से बाहर किया। इसके बाद आगे चलकर भारत ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर वर्ल्ड कप जीता।

- 2015 में ऑस्ट्रेलिया ने गत विजेता भारत (2011 के चैंपियन) को सेमीफाइनल में हराकर वर्ल्ड कप से बाहर किया। इसके बाद मेलबर्न में हुए फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को शिकस्त देकर वर्ल्ड कप अपने नाम किया।

- 2019 में इंग्लैंड ने सेमीफाइनल में गत विजेता (2015 के चैंपियन) ऑस्ट्रेलिया को हराया है। अब उसके पास फाइनल में न्यूजीलैंड को हराकर खिताब अपने नाम करने का मौका रहेगा।