लंदन। इंग्लैंड के इयोन मॉर्गन अगले साल टी20 वर्ल्ड कप भी जीतना चाहते हैं लेकिन पीठ दर्द की वजह से उनकी यह इच्छा अधूरी रह सकती है। मॉर्गन के नेतृत्व में इंग्लैंड ने पिछले महीने लॉर्ड्स पर वनडे वर्ल्ड कप जीता था।

32 वर्षीय मॉर्गन वर्ल्ड कप के दौरान भी पीठ दर्द से जूझ रहे थे। इसके बावजूद उन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ 17 छक्के जड़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। पिछले सप्ताह मॉर्गन को पीठ दर्द के कारण ससेक्स के मैच से हटना पड़ा था।

वर्ल्ड कप की सफलता, इंग्लैंड के लिए 200वां वनडे खेलना और 100 मैचों में टीम का नेतृत्व करने की उपलब्धियों के लिए लॉर्ड्स पर मॉर्गन को इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) द्वारा सम्मानित किया गया। ईसीबी चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स ने मॉर्गन को यादगार के रूप में सिल्वर कैप प्रदान की।

मॉर्गन ने कहा, मैं इंग्लिश टीम की और कमान संभालना चाहता हूं लेकिन अभी वादा नहीं कर सकता हूं। मुझे इसके बारे में सोचने के लिए समय चाहिए क्योंकि यह एक बड़ा फैसला है। जब आप नेतृत्व करते हैं तो आपका यह काम प्रेरणादायी होना चाहिए और इसके लिए आपका पूरी तरह फिट होना आवश्यक है। फॉर्म हासिल करना अलग बात होती है, वैसे मैं उम्मीद करता हूं कि सब कुछ ठीक होगा।

मॉर्गन ने 2007 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व किया था लेकिन इंग्लैंड की तरफ से टेस्ट खेलने की उनकी हमेशा इच्छा रही। वे 2010 में ऐसा करने में सफल रहे।

मॉर्गन ने कहा कि वे पूरी तरह फिट होना चाहते हैं लेकिन इसके लिए समय लगेगा। उन्हें इसके लिए आराम करना होगा। इंग्लैंड को अब टी20 मैच नवंबर में न्यूजीलैंड के दौरे पर खेलना है। इंग्लैंड को वनडे क्रिकेट सीधे अगले साल फरवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर खेलना है।