Fit India Dialogue: फिट इंडिया मूवमेंट का एक साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली समेत कई हस्तियों से बात की। पीएम ने पैरालिंपियन देवेंद्र झाझरिया, मॉडल मिलिंद सोमन, न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर से बात कर उनकी फिटनेस के राज जानने की कोशिश की। पीएम ने अपने जीवन के अनुभवों के बारे में भी बताया। पीएम ने कहा कि, आजकल में हफ्ते में एक बार अक्सर अपनी मां से बात करने की कोशिश करता हूं। जब भी बात करता हूं वह मेरे से पूछती है कि बेटा हल्दी लेते हो कि नहीं।

रोचक रही पीएम मोदी और विराट कोहली की बातचीत

प्रधानमंत्री मोदी से चर्चा के दौरान विराट कोहली ने बतााया कि उनकी नानी आज भी स्वस्थ्य हैं, क्योंकि वे लगातार एक्टिव रहती हैं और घरेलू नुस्खों से इलाज में भरोसा करती हैं। बकौल विराट, शुरूर में मैं भी बाहर का बहुत खाता था। मैदान से खेलकर लौट रहे हैं तो रास्ते में कुछ भी खा लिया। फिर फिटनेस पर ध्यान देने की बात आई तो सबसे पहले यही छोड़ना है। इस पर पीएम मोदी ने मजाकिया लहजे में कहा, दिल्ली के छोले-भटूरे ना खाना दुखता होगा। इस पर विराट ने कहा, अब काफी चीजें बदली हैं। मुझे बाद में लगा कि फिटनेस को लेकर काम करने की जरूरत है क्योंकि अगर आप फिट नहीं होंगे तो काफी कुछ चीजें नहीं कर पाएंगे।

इस दौरान पीएम मोदी ने टीम इंडिया के यो-यो टेस्ट के बारे में पूछा। विराट ने बताया, यह एक फिटनेस लेवल का टेस्ट है। सबसे पहले मैं ही भागता हूं और यह तय है कि अगर उस टेस्ट में मैं भी फेल हो जाउंगा तो टीम से बाहर होना पड़ेगा। एक टेस्ट गेंदबाज के लिए फिट रहना काफी जरूरी होता है। पहले हमारी फिटनेस अच्छी नहीं थी लेकिन आज की डेट में हमारी टीम काफी फिट है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020