नई दिल्ली, एजेंसी। दिल्‍ली के अधिकारियों के साथ टीम प्रबंधन की संवादहीनता रविवार को फिर नजर आई, जब फिरोजशाह कोटला के वेंकट सुंदरम ने सोमवार से यहां कर्नाटक के खिलाफ होने वाले टीम दिल्ली के अंतिम रणजी लीग मैच से पूर्व कप्तान गौतम गंभीर पर उनके काम में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया।

अपने तीन घरेलू मैच रोशनआरा की तेज पिच पर खेलने के बाद दिल्ली की टीम को अपना अंतिम मैच कोटला पर खेलने को बाध्य होना पड़ा, जो टीम का पसंदीदा मैदान नहीं है, क्योंकि उसे लगता है कि इस विकेट पर नतीजा नहीं निकलता।

हालांकि, इस मामले में गंभीर एंड कंपनी को झुकना पड़ा, क्योंकि रोशनआरा निजी क्लब है और मैदान पर अपनी स्वयं की नए साल की पार्टी के कारण 30 दिसंबर से यह उपलब्ध नहीं होगा।

दिल्ली के पूर्व ओपनर रहे सुंदरम को दिल्ली की टीम से काफी समय से मतभेद चल रहे हैं और रविवार को गंभीर से बहस के बाद यह बद से बदत्तर हो गए। गंभीर ने सुंदरम से पिच से घास हटाने की मांग की ताकि गेंद ज्यादा टर्न ले सके।

इसके जवाब में सुंदरम ने कहा कि अगर आपको पिचों को लेकर इतनी ही समस्या है तो मुझे लगता है कि आप टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए फिट नहीं हो।

सात मैचों 19 अंक के बाद दिल्ली की नजरें अंतिम मैच से सात अंक हासिल करने पर टिकी हैं और संभवत: इसके लिए गंभीर स्पिन की अनुकूल पिच की मांग कर रहे थे, जिससे कि कर्नाटक के खिलाफ नतीजा निकल सके। कर्नाटक 32 अंक के साथ पहले ही नॉकआउट चरण में जगह बना चुका है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket