नई दिल्ली। पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर" में पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर के बारे में अनर्गल और नकारात्मक बातें लिखी थी। गौतम गंभीर ने अपने ही अंदाज में अफरीदी को इसका जवाब दिया है। गंभीर ने अफरीदी को मनोचिकित्सक के पास ले जाने की पेशकश की है।

बता दें कि अफरीदी ने अपनी आत्मकथा में गंभीर को लेकर अनर्गल बातें लिखी। अफरीदी ने लिखा कि वे ऐसे बर्ताव करते हैं जैसे उनमें डॉन ब्रेडमैन और जेम्स बांड दोनों की काबिलियत हो। इतना ही नहीं अफरीदी ने लिखा कि गंभीर का रवैया भी अच्छा नहीं रहता और ना ही कोई महान रिकॉर्ड उनके नाम दर्ज है। आफरीदी ने किताब में लिखा कि कुछ प्रतिद्वंद्विता निजी होती है, तो कुछ पेशेवर। गंभीर के साथ एटिट्यूड की काफी समस्या है, जबकि उनका कोई कैरेक्टर नहीं है। उनके नाम कोई शानदार रिकॉर्ड नहीं है, फिर भी उनमें एटिट्यूड बहुत ज्यादा है।

गंभीर ने अपने चिर परिचित आक्रामक अंदाज में ही अफरीदी को जवाब दिया है। गंभीर ने अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर अफरीदी को जवाब देते हुए लिखा- तुम मजाकिया व्यक्ति हो। कोई नहीं, हम अब भी पाकिस्तानी लोगों को चिकित्सा के लिये वीजा दे रहे हैं। मैं खुद तुम्हें मनोचिकित्सक के पास लेकर जाऊंगा।

अफरीदी ने किताब में आगे लिखा- हम कराची में ऐसे लोगों को जला हुआ कहकर बुलाते हैं। बात यह है कि मुझे खुशमिजाज और सकारात्मक लोग पसंद हैं। आपको साकारात्मक होना चाहिए फिर चाहे आप आक्रमक हो या प्रतिस्पर्धी, पर गंभीर नकारात्मक थे।

बता दें कि गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी के बीच खेल के मैदान में भी तकरार होती रही है। दोनों मैदान पर भी एक-दूसरे से भिड़ते रहे हैं। दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान की कटुता अब अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में भी साफ झलक रही है। गौरतलब है कि 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच खासी बहस हुई थी और दोनों मैदान में ही भिड़ गए गए।