लंदन (एजेंसियां)। न्यूजीलैंड को हराकर मेजबान इंग्लैंड क्रिकेट जगत का नया वर्ल्ड चैंपियन बना। ये लगातार दूसरा मौका रहा जब न्यूजीलैंड को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। सुपर ओवर तक गए फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड बाउंड्री काउंट के आधार पर हारा। इस टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड को सबसे ज्यादा बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल का निराशाजनकर प्रदर्शन अखरा। हालांकि गप्टिल भारत के खिलाफ हुए सेमीफाइनल में तब हीरो बने थे, जब उन्होंने काफी दूर से डायरेक्ट थ्रो कर महेंद्र सिंह धोनी को रन आउट किया था। इसके बाद भारत बाहर हो गया था। लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ हैरतअंगेज फाइनल में सुपर ओवर की अंतिम गेंद पर खुद गप्टिल रन आउट हुए और न्यूजीलैंड खिताब हार गया। इस हार से सबसे ज्यादा दुखी गप्टिल ही नजर आए, जो रन पूरा नहीं कर सके और रन आउट हुए। इसी के साथ गप्टिल क्रिकेट फैंस के निशाने पर आ गए हैं और सोशल मीडिया पर वे जमकर ट्रोल हो रहे हैं।

इंग्लैंड के हाथों फाइनल में हार के साथ ही न्यूजीलैंड विश्व विजेता बनने का सपना इस बार भी टूट गया। पिछले वर्ल्ड कप के फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया से हार मिली थी। गप्टिल का पिछले वर्ल्ड कप में जोरदार प्रदर्शन रहा था, लेकिन इस वर्ल्ड कप में वे पूरी तरफ विफल रहे। सेमीफाइनल में धोनी को अंतिम समय में रन आउट करके गप्टिल ने बाजी पलट दी थी और गप्टिल हीरो बनकर सामने आए थे। लेकिन फाइनल में वे खुद रनआउट हुए और बड़े विलेन बन गए। यदि वे रन आउट नहीं होते और रन पूरा कर लेते तो अपनी टीम को पहली बार विश्व विजेता बना देते।

गप्टिल इस विश्व कप में पूरी तरह नाकाम रहे। इस विश्व कप के 10 मैचों में उन्होंने 20.66 की औसत से केवल 186 रन बनाए। जिसमें उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी श्रीलंका के खिलाफ 73 रनों की थी।

2015 के विश्व कप में गप्टिल का बल्ला जमकर चला था और वे उस विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे। गप्टिल ने 2015 के विश्व कप में 9 मैचों में 68.37 की औसत से 547 रन बनाए थे। लेकिन 2019 में किस्मत ने पलटी मारी और गप्टिल ने पूरी तरह निराश किया।

बता दें कि पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 241 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड भी 50 ओवर में 241 रनों के स्कोर पर ऑलआउट हो गई, लेकिन मैच सुपर ओवर में पहुंच गया। सुपरओवर में इंग्लैंड ने पहले खेलते हुए 15 रन बनाए, जवाब में न्यूजीलैंड भी 15 रन ही बना पाया। अंतिम गेंद पर न्यूजीलैंड को जीत के लिए 2 रन बनाने थे, लेकिन गप्टिल 1 रन लेने के बाद दूसरा रन लेने की कोशिश में रनआउट हो गए। मैच सुपरओवर में भी टाई हो गया, लेकिन बाउंड्री काउंट के आधार पर इंग्लैंड विजेता बना। रन आउट होने के बाद गप्टिल निराश होकर मैदान में ही सिर पकड़कर बैठ गए थे। खिताब गंवाने का दुख उनके चेहरे पर साफ नजर आ रहा था।

इस तरह रन आउट होने के बाद गप्टिल सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर हैं। खासतौर से भारतीय फैंस उन्हें जैसी करनी, वैसी भरनी का नतीजा बता रहे हैं। दरअसल गप्टिल ने धोनी को रनआउट कर बाहर किया था, लिहाजा फैंस कह रहे हैं कि अब गप्टिल को धोनी के रनआउट होने का दर्द पता चल रहा होगा। फैंस ये भी कह रहे हैं एक रनआउट ने भारत को बाहर किया था, वहीं एक रनआउट ने न्यूजीलैंड से खिताब छीन लिया। ये सब कर्मों का फल है।