मल्टीमीडिया डेस्क। भारत और पाकिस्तान के बीच कोई भी क्रिकेट मैच यादगार ही होता है लेकिन महेंद्रसिंह धोनी के लिए रविवार को क्रिकेट वर्ल्ड कप में मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबला अविस्मरणीय बन गया। वे राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ भारत की तरफ से सबसे ज्यादा इंटरनेशनल वनडे मैच खेलने के मामले में दूसरे क्रम पर पहुंच गए।

धोनी का यह करियर का 344वां इंटरनेशनल वनडे है लेकिन यह उनका भारत की तरफ से 341वां इंटरनेशनल वनडे है। उन्होंने 3 वनडे एशिया इलेवन की तरफ से खेले थे। द्रविड़ ने भारत की तरफ से 340 वनडे खेले थे। वैसे उन्होंने कुल 344 वनडे खेले, लेकिन उनके तीन वनडे आईसीसी इलेवन और एक वनडे एशिया इलेवन की तरफ से था।

धोनी ने इस मैच से पहले भारत की तरफ से 340 वनडे में 50.17 की औसत से 10387 रन बनाए हैं। वैसे उन्होंने इंटरनेशनल वनडे करियर में 343 मैचों में 50.53 की औसत से 10561 रन बनाए, इस दौरान उन्होंने 10 शतक और 71 अर्द्धशतक लगाए हैं। द्रविड़ ने भारत की तरफ से 340 वनडे मैचों में 39.15 की औसत से 10768 रन बनाए थे। वैसे उन्होंने कुल 344 वनडे में 39.16 की औसत से 10889 रन बनाए थे।

सचिन तेंडुलकर भारत की तरफ से 461 वनडे खेलकर इस लिस्ट में पहले क्रम पर हैं। तेंडुलकर ने वैसे अपने करियर में कुल 463 इंटरनेशनल वनडे खेले थे। वे दुनिया में सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं।

धोनी दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने अपने नेतृत्व में टीम को आईसीसी के तीनों प्रमुख खिताब दिलाए है। उनके नेतृत्व में भारत ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्ड कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी खिताब हासिल किया था।