ICC T20 World Cup 2022, New Zealand vs Pakistan: आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइनल मुकाबला बुधवार, 9 नवंबर को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में भारतीय समयानुसार दोपहर 1:30 बजे से खेला जाएगा। न्यूज़ीलैंड ने जहां काफ़ी आसानी से आख़िरी चार में प्रवेश किया, वहीं पाकिस्तान को यहां तक पहुंचने में काफ़ी मेहनत करनी पड़ी। भारत और ज़िम्बाब्वे से मैच हारने के बाद उन्हें अपने बाक़ी तीनों मैच को जीतने के अलावा करिश्माई उलटफेर का इंतज़ार भी करना पड़ा। आखिरकार नीदरलैंड्स ने साउथ अफ़्रीका को हराकर पाकिस्तान के लिए सेमाफाइनल की राह आसान कर दी। अगर टीम की बात करें तो साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध मैच में उनके मध्यक्रम के प्रदर्शन ने टीम में नई उम्मीद जगाई है। वहीं शाहीन अफ़रीदी भी फॉर्म में लौटते दिख रहे हैं। आख़िरी के दो मैचों में उन्होंने सात विकेट लिए हैं।

न्यूजीलैंड का गेम चेंजर खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में न्यूज़ीलैंड के सलामी बल्लेबाज़ फ़िन ऐलेन ने विस्फोटक बल्लेबाजी से सबको चौंका दिया था। ऐलेन ने सिर्फ 16 गेंदों में 41 रन बनाकर ऑस्ट्रेलियाई टीम को दबाव में ला दिया था। ऐसे में अपने टी20आई करियर में 165.68 के स्ट्राइक रेट से खेलने वाले ऐलेन की बल्लेबाज़ी न्यूजीलैंड के काम आ सकती है। सेमीफाइनल में जीतने के लिए पाकिस्तान को, इस खिलाड़ी के आक्रमण को रोकने की योजना बनानी पड़ेगी। वैसे भी पाकिस्तान का सबसे मज़बूत पक्ष है उनकी गेंदबाज़ी और अगर शुरुआती ओवरों में उसके गेंदबाजों की पिटाई हो गई, तो उनका पूरा आक्रमण बिखर जाएगा।

पाकिस्तान का तुरुप का इक्का

अगर न्यूज़ीलैंड एक योजनाबद्ध टीम है तो पाकिस्तान में मैच विनर्स की कमी नहीं। पाकिस्तान अगर सेमीफ़ाइनल पहुंचा है तो इसमें शादाब ख़ान ने बड़ा रोल निभाया है। विश्व कप में 10 या उससे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में शादाब के 6.22 की इकॉनमी से बेहतर केवल अनरिख़ नॉर्खिये (5.37) ही हैं। साउथ अफ़्रीका के खिलाफ मैच में उन्होंने तेज़ अर्धशतक लगाकर अपने बल्ले का कमाल भी दिखाया। वहीं ऑस्ट्रेलिया के तमाम मैदानों में सिडनी का पिच स्पिन के लिए सबसे अनुकूल माना जाता है। ऐसे में शादाब अपने चार ओवर में क्या करेंगे, वही मैच का रुख तय करेगा।

कैसी है सिडनी की पिच

सिडनी में इस विश्व कप में अब तक छह मुक़ाबले खेले जा चुके हैं। इनमें से पांच मैचों में पहले बल्लेबाज़ी करने वाली टीम विजयी रही है। दो बार टीमों ने 200 का आंकड़ा पार किया है। न्यूज़ीलैंड ने यहां अपने दोनों मैच जीते हैं, साथ ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने 200 का स्कोर बनाया था। पाकिस्तान ने भी इस मैदान पर एक मैच खेला है और उसमें उन्होंने साउथ अफ़्रीका को आसानी से परास्त किया था। मैदान काफ़ी बड़ा है, ऐसे में चौके के बजाए सिंगल-डबल्स से ज्यादा रन बनेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close