मुंबई। पूर्व कप्तान और कमेंटेटर सुनील गावस्कर ने कहा कि अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के मद्देनजर टीम इंडिया के लिए महेंद्रसिंह धोनी की बजाए आगे के बारे में सोचने का समय आ गया है। टीम को अब युवा खिलाड़ियों पर ध्यान देना चाहिए।

रिषभ पंत पिछले काफी समय से मिल रहे मौकों को भुनाने में नाकाम साबित हो रहे हैं इसके बावजूद वर्ल्ड कप के लिए गावस्कर की पसंद रिषभ पंत ही है। यह पूछे जाने पर कि क्या बांग्लादेश दौरे के लिए धोनी को टीम में चुना जाना चाहिए, गावस्कर ने कहा- हम आगे की तरफ देखना चाहिए। मेरी पसंद की टीम में तो धोनी शामिल नहीं है। यदि टी20 वर्ल्ड कप की बात की जाए तो पंत को मौका देना चाहिए। यदि पंत अच्छा नहीं खेलेंगे तो संजू सैमसन को मौका देना चाहिए। सैमसन अच्छे विकेटकीपर होने के साथ ही उम्दा बल्लेबाज भी है।

गावस्कर ने कहा, धोनी ने भारतीय क्रिकेट के लिए अहम योगदान दिया है लेकिन अब भविष्य की तरफ देखने का समय आ गया है। हर किसी की एक सेल्फ लाइफ होती है, मैं धोनी का बहुत सम्मान करता हूं और उनके फैंस में से एक हूं। मेरा मानना है कि उन्हें बाहर कर दिया जाए इससे पहले उन्हें खुद ही चले जाना चाहिए। उन्हें अपनी ही शर्तों पर जाना चाहिए। धोनी ने अभी इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा नहीं की है। उन्होंने क्रिकेट से दो महीने का ब्रेक लिया था लेकिन वर्तमान सिलेक्शन कमेटी संकेत दे चुकी है कि वो पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहती हैं।

पंत के प्रदर्शन में निरंतरता के अभाव और खराब शॉट सिलेक्शन टीम के लिए घातक साबित हो रहा है। बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर भी बता चुके हैं कि बेखौफ और लापरवाह नजरिए में क्या फर्क होता है। गावस्कर ने कहा कि यह देखना होगा कि रिषभ पंत को सही बल्लेबाजी क्रम पर उतारा जा रहा है या नहीं। हमें यह तय करना होगा कि उन्हें वर्ल्ड कप में किस क्रम पर उतारा जाएगा।