नई दिल्ली। ICC U19 World Cup Final: बांग्लादेश ने ICC U19 World Cup के फाइनल में भारत को 3 विकेट से हराकर पहली बार खिताब जीता। ये फाइनल मैच बांग्लादेश की जीत से ज्यादा उसके खिलाड़ियों की बदसलूकी और भारतीय खिलाड़ियों के साथ उनकी धक्का-मुक्की के लिए ज्यादा चर्चित रहा। ICC ने बांग्लादेश के 3 और भारत के 2 खिलाड़ियों पर कार्रवाई की। भारतीय स्पिनर Ravi Bishnoi पर हुई कार्रवाई से उनका परिवार दुखी हो गया और उनकी मां ने खाना-पीना छोड़ दिया है।

भारत के तेज गेंदबाज आकाश सिंह और स्पिनर Ravi Bishnoi पर आईसीसी ने कार्रवाई की। Ravi Bishnoi पर हुई इस कार्रवाई से उनका परिवार आहत है। पिता हैरान हैं कि उनका बेटा इतना आक्रामक कैसे हो गया, वहीं उन्होंने बताया कि Ravi Bishnoi को मिली सजा से उसकी मां बहुत दुखी है और उसने खाना-पीना छोड़ दिया है।

रवि शांत स्वभाव का बच्चा

रवि बिश्नोई के पिता मांगीलाल बिश्नोई अपने बेटे के व्यवहार से हैरान हैं। उनका कहना है- मेरा बेटा बहुत शांत स्वभाव का है। वो इतने गुस्से में कैसे हो सकता है। रवि हमेशा से ही शांत रहा है। मैं हैरान हूं कि मेरे बेटे को आखिर उस समय क्या हो गया था। मेरे कुल 4 बच्चे हैं.. रवि की दो बड़ी बहनें और एक भाई है। इन सभी में रवि सबसे शांत है।

मां ने छोड़ा खाना

आईसीसी ने पूरे मैच के दौरान हुई घटनाओं के आकलन के बाद रवि पर कार्रवाई की है। अपने बेटे के व्यवहार से नाराज और उन पर हुई कार्रवाई की निराशा में रवि की मां खाना-पीना छोड़ दिया है। रवि के पिता ने बताया- हमने रवि से इस बारे में बात की तो उसने बताया कि उसने अपने टीम के साथी को बांग्लादेशी खिलाड़ियों की लगातार स्लेजिंग से बचाने के लिए ये सब किया था। उस दौरान बांग्लादेशी खिलाड़ियों द्वारा आक्रामकता दिखाई जा रही थी। पर वो मानता है कि वो गलत व्यवहार था। मेरी पत्नी (रवि की मां) ने कल से कुछ नहीं खाया है। वो बेटे के व्यवहार से नाराज तो है ही, लेकिन कार्रवाई से निराश भी है।

रवि पर हुई ये कार्रवाई

आईसीसी ने भारत के तेज गेंदबाज आकाश सिंह और स्पिनर रवि बिश्नोई के अलावा बांग्लादेश के 3 खिलाड़ियों पर कार्रवाई की। रवि को आईसीसी की आचार संहिता की धारा 2.5 के लेवल एक के उल्लंघन का दोषी पाया गया। इसके अलावा रवि बांग्लादेशी बल्लेबाज अविषेक दास को आउट करने के बाद आक्रामक तेवर दिखाने का भी दोषी पाया गया। इन दो घटनाओं के लिए रवि को अलग-अलग डिमेरिट अंक दिए गए। उनके खाते में कुल 7 डिमेरिट अंक हैं जो उनके रिकार्ड में 2 साल तक रहेंगे।

वहीं बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद रिदय, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन को आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया। बांग्लादेश के खिलाड़ियों के दुर्व्यवहार के लिए उनके कप्तान अकबर अली ने माफी मांगी थी।

बता दें कि बांग्लादेश के खिलाफ मिली हार से भारत का 5वीं बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना टूट गया। रवि बिश्नोई ने टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 6 मैच में 17 विकेट लिए और वे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे। वे अंडर 19 वर्ल्ड कप के एक संस्करण में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज हैं। उनसे पहले और किसी भारतीय गेंदबाज ने 14 से ज्यादा विकेट नहीं लिए।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020