नई दिल्ली। ICC U19 World Cup Final: बांग्लादेश ने भारत को 3 विकेट से हराकर ICC U19 World Cup जीता। ये बांग्लादेश की पहली खिताबी जीत रही। ये मैच बांग्लादेश की जीत से ज्यादा खिलाड़ियों के बीच तकरार के लिए चर्चित रहा। बता दें कि खिताब जीतने के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ी आक्रामक होकर भारतीय खिलाड़ियों से भिड़ गए थे। बाद में आईसीसी ने बांग्लादेश के 3 और भारत के 2 खिलाड़ियों पर कार्रवाई की थी। अब भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने BCCI से मांग की कि वो भी भारतीय खिलाड़ियों पर सख्त कार्रवाई करे ताकि उन्हें संयमित रहने का सबक मिले और वे भविष्य में ऐसी हरकत नहीं करे।

बता दें कि बांग्लादेश के हाथों मिली हार से टीम इंडिया का रिकॉर्ड 5वीं बार खिताब जीतने का सपना टूट गया। मैच के बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी भारतीय खिलाड़ियों से उलझ भी गए थे। वीडियो फुटेज के आधार पर आईसीसी ने बांग्लादेश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को दोषी पाते हुए कार्रवाई की। अब कपिल देव और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कहा कि BCCI को भारतीय खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

ये कहा कपिल देव ने

कपिल देव ने बीसीसीआई से मांग की कि उसे दोषी पाए गए भारतीय खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई करना चाहिए ताकि मिसाल पेश हो। क्रिकेट जेंटलमैन गेम कहलाता है, विपक्षी खिलाड़ियों को गाली देना ठीक नहींं है। मैं आक्रामकता का विरोधी नहीं हूं, बल्कि मैं इसका स्वागत करता हूं.. इसमें कुछ भी गलत नहीं है। लेकिन ये नियंत्रित आक्रामकता होनी चाहिए। हमें अपने खिलाड़ियों को सीख देना ही होगी। फिलहाल बोर्ड के पास पर्याप्त कारण है कि वो इन युवा खिलाड़ियों पर कार्रवाई करें। ये खिलाड़ी अभी युवा हैं और इन्हें मैदान में विपक्षी टीम से कैसे बर्ताव करना है, इसका पता होना चाहिए। हमारे खिलाड़ी देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनके ऐसे गलत व्यवहार से पूरे देश का नाम खराब होता है, ऐसे में इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए।

अजहर ने सपोर्ट स्टाफ पर उठाए सवाल

इसी मामले में पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने भी बीसीसीआई से मांग की। अजहर ने कहा- मैं होता तो निश्चित तौर पर दोषी खिलाड़ियों पर कार्रवाई करता। पर मैं ये पूछना चाहता हूं कि जब ये स्थिति बनी तो सपोर्ट स्टाफ क्या कर रहा था। उनपर इन युवा खिलाड़ियों को जागरूक करने की जिम्मेदारी होती है। फिलहाल दोषी खिलाड़ियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए ताकि भविष्य में ये और अन्य सभी खिलाड़ी अनुशासन में रहें।

रवि बिश्नोई और आकाश सिंह दोषी

बता दें कि वीडियो फुटेज के आधार पर आईसीसी ने बांग्लादेश के तीन और भारत के दो खिलाड़ियों को खेल की साख को ठेस पहुंचाने का दोषी करार दिया। आईसीसी ने बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद रिदय, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन को आचार संहिता उल्लंघन जबकि भारत के आकाश सिंह और रवि बिश्नोई को आक्रामक प्रतिक्रिया देने के मामले में दोषी पाया। दरअसल फाइनल जीतने के बाद बांग्लादेश के खिलाड़ी भारतीय खिलाड़ियों से भिड़ गए थे। इसके अलावा बांग्लादेश के खिलाड़ी पूरे मैच के दौरान भारतीय खिलाड़ियों को अपशब्द कहते रहे।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket