मल्टीमीडिया डेस्क। विश्व कप क्रिकेट में टीम इंडिया का सफर बुधवार को थम गया जब न्यूजीलैंड ने विराट कोहली टीम को 18 रन से मात दे दी। यह चौथा मौका जब भारतीय टीम वर्ल्ड कप क्रिकेट के सेमीफाइनल में हारी। (See Full Details Below) मैनचेस्टर में खेले गए पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया को 240 रन का टारगेट दिया था, लेकिन पूरी टीम 49.3 ओवर में 221 रन पर आउट हो गई। रविंद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने उम्मीद जताई थी, लेकिन आखिरी में हार का मुंह देखना पड़ा। यह धोनी का आखिरी वर्ल्ड कप मैच बताया जा रहा है। अब दूसरे सेमीफाइनल में गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला इंग्लैंड से होगा। फाइनल 14 जुलाई को खेला जाएगा।

टीम इंडिया की चार सेमीफाइनल हार

  1. 1987, इंग्लैंड से हारे: भारत में खेले गए इस वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को 35 रन से हरा दिया था। टीम इंडिया को तब विश्व कप का तगड़ा दावेदार माना जा रहा था, क्योंकि उससे पहले 1983 में भारत ने कपिल देव की कप्तानी में विश्व कप जीता था। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ग्रेहम गुच के शतक की बदौलत 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 254 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय टीम 45.3 ओवर में 219 रन पर ऑलआउट हो गई थी।
  2. 1996, श्रीलंका से हारे: यह मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स में हुआ था। मैच पूरा नहीं हो सका था, क्योंकि भारतीय टीम के खराब प्रदर्शन के बाद दर्शकों ने हंगामा शुरू कर दिया था। श्रीलंका ने टीम इंडिया को 252 रन का लक्ष्य दिया था। जवाब में टीम इंडिया के आठ विकेट 120 रन पर गिर गए थे। इसके आगे मैच नहीं हो सका और श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया गया।
  3. 2015, ऑस्ट्रेलिया से हारे: इस विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 95 रन से मात दी थी। सिडनी में खेले गए इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 328 रन बनाए। जवाब में टीम इंडिया 233 रन पर आउट हो गई।
  4. 2019, न्यूजीलैंड से हारे: अब मैनचेस्टर में खेले गए सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड ने विराट कोहली की टीम को 18 से हरा दिया। न्यूजीलैंड द्वारा निर्धारित 240 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की पूरी टीम 50 ओवरों में 221 रन ही बना सकी।

Posted By: Arvind Dubey