कराची। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद ने इस बात पर निराशा जताई कि पुलवामा हमले के बाद क्रिकेट को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भले ही भारत में यह मांग उठ रही है कि टीम इंडिया को अब पाकिस्तान से नहीं खेलना चाहिए लेकिन क्रिकेट विश्व कप में भारत और पाकिस्तान के बीच निर्धारित मैच खेला जाना चाहिए।

पाकिस्तानी कप्तान सरफराज ने कहा कि खेलों को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए। भारत व पाकिस्तान में क्रिकेट को बहुत पसंद किया जाता है और इन फैंस के लिए यह मैच होना चाहिए। क्रिकेट को राजनीतिक लाभ के लिए निशाना बनाया जा रहा है। इन दोनों देशों में करोड़ों फैंस यह मैच देखना चाहते हैं और उनकी खातिर यह मैच तयशुदा कार्यक्रमानुसार होना चाहिए।

पाक कप्तान ने कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद क्रिकेट को सबसे ज्यादा निशाना बनाया जा रहा है जो काफी निराशाजनक है। पाकिस्तान ने कभी भी खेल को राजनीति के साथ नहीं मिलाया। किसी भी खेल को सिर्फ और सिर्फ खेल की तरह ही लेना चाहिए।

भारत के कई पूर्व क्रिकेटरों ने मांग की है कि पाकिस्तान के साथ सिर्फ खेल संबंध ही नहीं हर तरह से संबंधों को खत्म करना चाहिए। वैसे गावस्कर और सचिन जैसे क्रिकेटरों ने कहा है कि पाकिस्तान के साथ मैच खेलकर उनको हराना चाहिए ना कि इसका बहिष्कार किया जाना चाहिए। सचिन ने ये भी कहा था कि अगर भारत पाक के साथ नहीं खेलता है तो इसका फायदा पाकिस्तान को ही मिलेगा। भारत और पाकिस्तान के बीच 16 जून को मैनचेस्टर में मुकाबला होना है।

Posted By: