नई दिल्ली। क्रिकेट वर्ल्ड कप से ठीक पहले इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पानेसर ने सनसनीखेज खुलासा किया कि इंग्लैंड की टीम बॉल टैंपरिंग करती थी। मोंटी ने अपनी किताब 'द फुल मोंटी' में इस बात का खुलासा किया है कि वो खुद और उनकी टीम के अन्य खिलाड़ी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की मदद के लिए गेंद से छेड़खानी किया करते थे।

मोंटी पानेसर ने बताया कि इंग्लैंड की टीम बॉल टैंपरिंग के लिए किन-किन तरकीबों का इस्तेमाल करती थी। मोंटी ने बताया कि हमने ये पाया कि अगर मिंट और सनक्रीम के साथ अगर लार का उपयोग गेंद का चमकाने के लिए करें तो इससे गेंद को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलती है। मोंटी ने बताया कि वे गेंद को चालाकी से अपने ट्राउजर पर लगी चेन के साथ रगड़ता थे, जिससे कि गेंद एक तरफ से और ज्यादा खुरदरी और खराब हो जाती थी। इससे हमारी टीम के तेज गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलती थी।

मोंटी ने इंग्लैंड के लिए 50 टेस्ट, 26 वनडे व एक टी 20 मैच खेला था। मोंटी लेफ्ट आर्म स्पिनर थे और उनके इस खुलासे के बाद एक बार फिर से गेंद के छेड़छाड़ मामले की याद ताजा हो गई जो पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने किया था। मोंटी ने अपनी किताब में लिखा है कि हमने खेल के नियमों को तोड़ा है या नहीं ये इस पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से इस बात को देखते हैं। ये खेल भावना के साथ हेयर लाइन फ्रैक्चर जैसी चीटिंग थी। हालांकि नियम के मुताबिक आप गेंद को अपनी ड्रेस से रगड़ सकते हैं।

Posted By: Kiran Waikar