कोलकाता (एजेंसियां)। कोलकाता का ऐतिहासिक ईडन गार्डंस स्टेडियम एक और बड़े इतिहास का गवाह बनने जा रहा है। भारत और बांग्लादेश के बीच 22 से 26 नवंबर तक यहां खेले जाने वाला टेस्ट डे-नाइट मैच होगा। बता दें कि ये भारत में खेला जाने वाला पहला डे-नाइट टेस्ट मैच होगा।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि ये भारतीय क्रिकेट के लिए एक स्वर्णिम दिन होगा। बता दें कि ये 2 मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट है। इस टेस्ट के डे-नाइट का प्रस्ताव गांगुली ने बांग्लादेशी क्रिकेट बोर्ड को दिया था। पिंक बॉल टेस्ट के इस प्रस्ताव पर बोर्ड ने अपने खिलाड़ियों से चर्चा की थी। बांग्लादेशी खिलाड़ी हालांकि पहले इसके लिए तैयार नहीं थे, लेकिन बोर्ड के साथ कई दौर की बैठकों के बाद वे डे-नाइट टेस्ट खेलने को तैयार हो गए। इस तरह कोलकाता का ईडन गार्डंस स्टेडियम भारत के पहले डे-नाइट टेस्ट का गवाह बनेगा। इसके अलावा विराट कोहली डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने वाले भारत के पहले टेस्ट कप्तान होंगे।

गांगुली ने कहा कि यह अच्छी पहल है। टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने की जरूरत है। मैं और मेरी टीम ने इसके लिए काफी मेहनत की है। हम विराट कोहली का भी शुक्रिया करना चाहेंगे कि वह इसके लिए तैयार हुए। मैं सभी को विश्वास दिलाता हूं कि परिस्थतियों की वजह से किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। हम ओस की समस्या को सुलझा लेंगे। हम डे-नाइट वनडे में भी ओस स्प्रै का इस्तेमाल करते हैं। वैसा ही यहां भी करेंगे।

बांग्लादेश ने जताई थी चिंता

इस प्रस्ताव को लेकर बांग्लादेशी बोर्ड उत्साहित था, लेकिन उसका फैसला पूरी तरह खिलाड़ियों के फैसले पर निर्भर था। चूंकि डे-नाइट टेस्ट पिंक बॉल से खेला जाता है और इसके लिए अलग तरह की तैयारियां करना होती है, लिहाजा आशंका थी कि खिलाड़ी इसके लिए इंकार कर देंगे। इसके अलावा टीम के दक्षिण अफ्रीकी कोच रसेल डोमिंगो ने भी तैयारियों को लेकर चिंता जताई थी। लेकिन आखिरकार टीम ने मैच खेलने पर सहमति दे दी और कुछ नया करने के लिए हामी भरी। नए कार्यक्रम के तहत अब कोलकाता टेस्ट दोपहर 2 बजे शुरू होगा और रात 10 बजे तक चलेगा।

कोच रसेल ने कहा- टीम के लिए ये वाकई बड़ा मौका होगा। हमारी तरह भारत ने इससे पहले पिंक बॉल से नहीं खेला है। हम इस चुनौती के लिए तैयार हैं। हमारे सामने चुनौतियां हैं क्योंकि हमारे पास तैयारी का ज्यादा समय नहीं है, लेकिन भारत के लिए भी ऐसी ही स्थिति है। गुलाबी गेंद से मुकाबला है, इसीलिए दोनों टीम ही किसी से कम नहीं होंगी।

बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना रहेंगी मौजूद

कोलकाता में होने वाला टेस्ट इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण होगा कि इसमें BCCI और भारत सरकार ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को भी पहले दिन आमंत्रित किया है। इसे लेकर गांगुली ने कहा- ये मेरा काम है और मैं यहां इसलिए ही हूं। मैंने काफी क्रिकेट खेला है। ऐसे में मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट को भी लोकप्रिय बनाने की जरुरत है और जब तक बदलाव नहीं होंगे, ये संभव नहीं है। हम सभी तरह की पहल करना चाहेंगे।

अभी तक 11 डे-नाइट टेस्ट हुए

भारत और बांग्लादेश के बीच कोलकाता टेस्ट मैच क्रिकेट इतिहास का 12वां ऐसा टेस्ट मैच होगा जो दिन-रात का मुकाबला होगा। इससे पहले अब तक 11 डे-नाइट टेस्ट मैच खेले गए हैं। 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच पहला टेस्ट खेला गया था। पिछली बार डे-नाइट टेस्ट इस वर्ष जनवरी में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच ब्रिसबेन में खेला गया था। भारतीय टीम को पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट का प्रस्ताव रखा था, लेकिन भारत ने तब तैयारियों के अभाव में इसे अस्वीकार कर दिया था।

पदक विजेता ओलिंपियन का होगा सम्मान

कोलकाता टेस्ट कई मायनों में महत्वपूर्ण रहने वाला है। डे-नाइट के अलावा इस टेस्ट मैच के दौरान अभिनव बिंद्रा, एमसी मैरी कॉम और पीवी सिंधू जैसे दिग्गज सहित अन्य ओलिंपिक पदक विजेताओं को सम्मानित भी किया जाएगा। इन सभी खिलाड़ियों को टेस्ट मैच के लिए निमंत्रण दिया जाएगा।

Posted By: Rahul Vavikar